J&K: पुलवामा मुठभेड़ में सात आम नागरिकों समेत 11 की मौत, कश्मीर में प्रदर्शन

सेना का एक जवान (फाइल फोटो) - Sakshi Samachar

श्रीनगरः जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा जिले में शनिवार को सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच हुई मुठभेड़ में सात आम नागरिकों की मौत हो गई। इस मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गए और सेना का एक जवान शहीद हो गया।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि यह घटना सिर्नू गांव में उस वक्त हुई जब सुरक्षाबलों ने सेना से भागे हुए जहूर अहमद ठोकर समेत तीन आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया खबरों के आधार पर इलाके की घेराबंदी कर दी। अधिकारियों ने बताया कि गोलीबारी के बाद कई आम नागरिक घायल हो गये जो बाद में मुठभेड़ में तब्दील हो गयी।

कश्मीर में राजनीतिक दलों ने इस घटना की निंदा की है और कहा है कि राज्यपाल सत्यपाल मलिक के नेतृत्व वाला प्रशासन आम लोगों की सुरक्षा में ‘‘नाकाम'' है। घटना के बाद बढ़ते तनाव को देखते हुए अधिकारियों ने श्रीनगर सहित कश्मीर के अधिकतर इलाकों में इंटरनेट सेवा बंद कर दिया।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जैसे ही ठोकर के मुठभेड़ में फंसे होने की खबर फैली, लोगों ने मुठभेड़ स्थल पर एकत्र होना शुरू कर दिया।

खुफिया जानकारी मिलने के बाद सुरक्षा बलों द्वारा सिरनू गांव में तलाशी अभियान शुरू करने के बाद मुठभेड़ शुरू हो गई।पुलिस ने बताया कि मारे गए आतंकवादियों की पहचान का पता लगाया जा रहा है।

मुठभेड़ स्थल पर सुरक्षाबलों और प्रदर्शनकारियों के बीच हुए संघर्ष में गोलीबारी से घायल हुए दो युवाओं की पहचान आमिर अहमद और आबिद हुसैन के रूप में हुई है।

इसे भी पढ़ेंः

कई राज्यों में हार के बाद भी यहां पर धुंआधार तरीके से जीत रही है भाजपा

अहमद और हुसैन को अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां पहंचते ही उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।पुलिस ने बताया कि संघर्ष में तीन अन्य युवा भी घायल हुए हैं।

अधिकारियों ने पुलवामा में मोबाइल सेवाएं निलंबित कर दी हैं और जम्मू क्षेत्र में कश्मीर घाटी और बनिहाल शहर के बीच रेल सेवाएं रोक दी गई हैं।

Advertisement
Back to Top