नई दिल्ली : भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर उर्जित पटेल ने सोमवार को 'निजी कारणों' का हवाला देते हुए तत्काल प्रभाव से अपने पद से इस्तीफा दे दिया।

उन्होंने आरबीआई की ओर से जारी एक संक्षिप्त बयान में कहा, "निजी कारणों से मैंने अपने मौजूदा पद से तत्काल प्रभाव से इस्तीफा देने का निर्णय लिया है।"

आरबीआई गवर्नर के इस्तीफे के बाद सोशल मीडिया पर प्रतिक्रियाओं का दौर शुरु हो गया है। पीएम नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस बारे में रिएक्शन दिया है।

पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'उर्जित पटेल एक बहुत ही समर्थ और गहरी समझ रखने वाले अर्थशास्त्री हैं। उन्हें अर्थशास्त्र से जुड़े मामलों की गहरी समझ है। उन्होंने बैकिंग प्रणाली में अनुशासन स्थापित किया। उनके नेतृत्व में आरबीआई में वित्तीय स्थिरता आई।'

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, 'उर्जित पटेल निर्विवाद रूप से एक पेशेवर व्यक्ति हैं। वह 6 साल से भारतीय रिजर्व बैंक के साथ गवर्नर और डिप्टी गवर्नर के तौर पर जुड़े हुए थे। उन्होंने एक महान विरासत पीछे छोड़ी है। हम उनकी कमी महसूस करेंगे।'

इसे भी पढ़ें :

Urjit Patel Resigns: RBI गवर्नर उर्जित पटेल ने दिया इस्तीफा, हुए भावुक

वहीं केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भी आरबीआई गवर्नर के इस्तीफे पर ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, 'सरकार आरबीआई में उर्जित पटेल की सेवा के प्रति आभार प्रकट करती है और उनके काम की सराहना करती है। यह मेरे लिए खुशी के बात है कि उनके साथ काम करने का मौका मिला। उन्हें भविष्य के लिए और सार्वजनिक सेवा में बने रहने के लिए शुभकामनाएं।'

बता दें कि यह कोई पहली बार नहीं है कि जब आरबीआई के गवर्नर और मोदी सरकार के बीच मतभेद हुए हों। इससे पहले रघुराम राजन भी सरकार से तनातनी को लेकर चर्चा में रहे हैं।