झालावाड़ (राजस्थान) : राजस्थान की मौजूदा मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के खिलाफ चुनाव मैदान में ताल ठोक रहे कांग्रेस प्रत्याशी मानवेन्द्र सिंह विधानसभा क्षेत्र झालरापाटन में मतदाताओं से सवाल कर रहे हैं कि आखिर वह किसे वोट देना चाहते हैं, उस सरकार को जो जाने वाली है या उसे जो आने वाली है। भाजपा का दामन छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए सिंह को पार्टी ने इस हाई-वोल्टेज चुनाव में सीधा मुख्यमंत्री के खिलाफ अखाड़े में उतारा है।

सिंह की पूरे दिन चलने वाली चुनावी रैलियों और सभाओं में उक्त सवाल पूछते हुए पोस्टर लगे हुए हैं। उनका दावा है कि प्रदेश में कांग्रेस के पक्ष में लहर है और पार्टी के सत्ता में आने को लेकर कोई शंका नहीं है। दौतलपुरा गांव में चुनावी सभा के दौरान सिंह ने लोगों से पूछा, ‘‘अपना मत किसके दोगे? आवावाड़ी को या जावावाड़ी को (आने वाली सरकार को या जाने वाली सरकार को ?'' विरोधियों के ‘बाहरी' और ‘पैराशूट' उम्मीदवार होने के आरोपों का जवाब देने के लिए मानवेन्द्र सिंह सुबह-सुबह ही चुनाव प्रचार पर निकल जाते हैं।

वह गांव-गांव जाकर लोगों से मिलते हैं, बातें करते हैं और अपने लिए वोट मांगते हैं। अपने ट्रेडमार्क धोती, कुर्ता और रंगीन बंधेज साफा में सिंह रास्ते भर लोगों से दुआ-सलाम करते हैं, चाहने वालों के साथ सेल्फी लेते हैं और लोगों से बड़ी संख्या में मतदान करने का अनुरोध करते हैं। गांवों में अपने प्रचार अभियान के दौरान सिंह जनता को याद दिलाना नहीं भूलते कि वसुंधरा सरकार में उनकी हालत कितनी खराब है।

इसे भी पढ़ें :

Rajasthan Election 2018 : BJP का घोषणा-पत्र जारी, 50 लाख रोजगार और बेरोजगारों को भत्ता का वादा

Rajasthan Elections 2018 : जानिए कांग्रेस के CM उम्मीदवार की रेस में कौन है सबसे आगे

देवची गांव में वह लोगों से कहते हैं, अगर ‘वीआईपी सीट' के गांव की हालत ऐसी है तो बाकियों की कैसी होगी। सिंह कहते हैं कि चुनाव से पहले ही लोगों को परिणाम पता हैं। कुछ लोगों का कहना है कि 130 सीटें आएंगी तो कुछ 140 और 150 सीटें भी दे रहे हैं। ऐसे में आप देखें कि किसको मत देना है, उसको जो अगली सरकार बनाने वाली है, या उसे जो अब जा रही है। राजस्थान की 200 सदस्यीय विधानसभा की 199 सीटों के लिए सात दिसंबर को मतदान होना है। एक सीट पर बसपा उम्मीदवार के निधन के कारण मतदान स्थगित हो गया है। वोटों की गिनती 11 दिसंबर को होनी है।