बेंगलुरू : भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने पोलर सैटलाइट लॉन्च व्हीकल (पीएसएलवी) सी-43 की मदद से भारत के हाइपरस्‍पेक्‍ट्रल इमेजिंग सैटलाइट और 8 देशों के 30 अन्‍य सैटेलाइट्स को प्रक्षेपित कर दिया गया है। इनमें से 23 सेटेलाइट अमेरिका के हैं। इसरो के मुताबिक, उल्टी गिनती बुधवार की सुबह 5.58 बजे शुरू हुई। 30 अन्य उपग्रहों का कुल वजन 261.5 किलोग्राम है।

इसरो ने बताया कि आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से गुरुवार सुबह 09.58 पर प्रक्षेपण किया गया। एजेंसी ने कहा कि इमेजिंग सैटलाइट पृथ्वी की निगरानी के लिए इसरो द्वारा विकसित किया गया है। यह पीएसएलवी-सी43 मिशन का प्राथमिक उपग्रह है। अंतरिक्ष एजेंसी ने कहा कि हाइपरस्‍पेक्‍ट्रल इमेजिंग सैटलाइट प्राथमिक लक्ष्य पृथ्वी की सतह का अध्ययन करना है।

यह भी पढ़ें : इसरो ने इंग्लैंड के दो उपग्रहों को कक्षा में स्थापित किया, PM ने अंतरिक्ष वैज्ञानिकों को दी बधाई

प्रक्षेपण यान के रवाना होने के बाद महज 112 मिनट में संपूर्ण अभियान पूरा हो जाएगा। रॉकेट का चौथा चरण उड़ान भरने के महज 16 मिनट बाद शुरू हो जाएगा।17 मिनट से अधिक की उड़ान भरने पर पीएसएलवी रॉकेट हाइपर स्पेक्ट्रल इमेजिंग सेटेलाइट को कक्षा में स्थापित कर देगा जो वहां पांच साल तक रहेगा।

जिन देशों के उपग्रह भेजे गए हैं उनमें 23 सैटेलाइट अमेरिका के जबकि आस्ट्रेलिया, कनाडा, कोलंबिया, फिनलैंड, मलेशिया, नीदरलैंड और स्पेन की एक-एक सैटेलाइट शामिल हैं। बता दें कि इस महीने यह इसरो का दूसरा लांच है। इससे पहले 14 नवंबर को एजेंसी ने अपना हालिया संचार सैटेलाइट जीसैट-29 छोड़ा था।