मुंबई : आगामी लोकसभा से पहले एकबार फिर राम मंदिर पर सियासत तेज हो गई है। मोदी सरकार से लोग राम मंदिर बनाने के वादे का हिसाब मांग रहे हैं। इसी फेहरिस्त में शिवसेना सांसद संजय राउत ने बाबरी मस्जिद के मामले पर बयान दिया है।

संजय ने भाजपा पर तंज कसते हुए कहा, ''हमने तो 17 मिनट में बाबरी मस्जिद तोड़ दी थी तो कानून बनाने में कितना समय लगता है।''

संजय राउत ने कहा, ''राष्ट्रपति भवन से लेकर उत्तर प्रदेश तक भाजपा का शासन है। राज्यसभा में भी ऐसे बहुत से सांसद हैं जो राम मंदिर के साथ खड़े होंगे ।

इसे भी पढ़ें :

राहुल गांधी देश की बागडोर संभालने के काबिल, फीकी पड़ी मोदी की लहर : संजय राउत

प्रणब मुखर्जी को लेकर संजय राउत के दिए बयान पर शर्मिष्ठा ने दिया यह जवाब

शिवसेना ने बीजेपी से अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर अध्यादेश लाने और तारीख की घोषणा करने के लिए सवाल किए। शिवसेना ने भाजपा पर जमकर हमला बोलते हुए कहा सत्ता में बैठे लोगों को शिवसेना पर गर्व करना चाहिए जिन्होंने राम जन्मभूमि में बाबर के राज को समाप्त किया था।

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे राम मंदिर निर्माण के लिए अयोध्या का दौरा करेंगे। वह अयोध्या में कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे और संतों से भी मिलेंगे।उनके साथ हजारों समर्थक भी जाएंगे।

एक संपादकीय में लिखा है, 'हमारे अयोध्या दौरे को लेकर खुद को हिंदुत्व समर्थक कहने वालों के पेट में दर्द क्यों हो रहा है? हम राजनीतिक मकसद से वहां नहीं जा रहे हैं' शिवसेना ने दावा किया कि हमने 'चलो अयोध्या' का नारा नहीं दिया है।

शिवसेना ने कहा अयोध्या किसी का निजी स्थान है। शिवसेना अयोध्या भगवान राम के दर्शन के लिए जा रहे हैं। शिवसेना के एक संपादकीय में है कि 'आप राम मंदिर के निर्माण की तारीख क्यों तय नहीं कर रहे हैं?