आईजोल/अगरतला : त्रिपुरा के शरणार्थी शिविरों में पिछले 21 सालों से ठहरे हुए जनजातीय शरणार्थियों को मतदान करने की सुविधा प्रदान करने के लिए चुनाव आयोग मिजोरम-त्रिपुरा सीमा स्थित कान्हमुन गांव में मतदान केंद्र स्थापित करेगा। यह जानकारी बुधवार को एक अधिकारी ने दी।

मिजोरम की 40 सदस्यीय विधानसभा के लिए 28 नवंबर को मतदान होगा, जिसमें यहां शरणार्थी भी मतदान कर सकेंगे। रियांग जनजाति के 35,000 शरणार्थियों में 11,232 योग्य मतदाता हैं, जिनमें पुरुष और महिला दोनों मतदाता शामिल हैं।

मिजोरम विधानसभा चुनाव के दौरान शरणार्थी मतदाताओं के मतदान करने का मसला काफी विवादास्पद बन गया था, जिसको लेकर मुख्य चुनाव अधिकारी एस. बी. शशांक को बदल कर नए अधिकारी के तौर पर भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी आशीष कुंद्रा को मतदान से दो सप्ताह पहले नियुक्त किया गया।

इसे भी पढ़ें :

मिजोरम के मामिट जिले में मतदान करेंगे ब्रू शरणार्थी, आयोग ने किया फैसला

मिजोरम के संयुक्त चुनाव अधिकारी जोराम्मुआना ने आईएएनएस से बातचीत में कहा, "निर्वाचन आयोग द्वारा हमें मिजोरम क्षेत्र में मामित जिले के अंतर्गत सीमापर स्थित कन्हामुन गांव में 15 मतदान केंद्र बनाने को कहा गया है।"

उन्होंने कहा, "त्रिपुरा सरकार से सुरक्षा व मतदाताओं को शरणार्थी शिविरों से लाने के लिए परिवहन की सुविधा प्रदान करने का आग्रह किया जाएगा।"