आइजोल : मिजोरम विधानसभा चुनाव में 200 से अधिक उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। जिनमें महिला उम्मीदवारों की संख्या केवल 15 है। मतदाताओं के लिहाज से देखा जाए तो प्रदेश में पुरुषों के मुकाबले महिला मतदाता अधिक हैं। प्रदेश से कभी भी कोई सीट नहीं जीतने वाली भाजपा ने सबसे अधिक छह महिलाओं को चुनाव मैदान में उतारा है।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष जेवी लूना ने बताया कि मिजो महिलाएं पारंपरिक रूप से राजनीति में अधिक रुचि नहीं लेती हैं। लेकिन अब वे सामाजिक गतिविधियों में भाग ले रही हैं और उसने सभी राजनीतिक दलों को महिला उम्मीदवारों को चुनाव में उतारने का ज्ञापन दिया था।

इसे भी पढ़ें :

मिजोरम सरकार ने चुनाव खर्च के लिए आवंटित किए 52.75 करोड़ रूपये

मिजोरम विधानसभा चुनाव : प्रचार अभियान ने पकड़ा जोर, ऐसे हो रही मतदाताओं को रिझाने की कोशिश

भाजपा के बाद ईसाई मत प्रचारक राजनीतिक दल जोरम थार का स्थान है जिसने पांच महिलाओं को चुनाव मैदान में उतारा है। वहीं, निवर्तमान सरकार में मंत्री वनलालावम्पुई चावंगथु चुनाव मैदान में कांग्रेस के टिकट से उम्मीदवार हैं।

जोरम पीपुल्स मूवमेंट ने दो महिलाओं को उम्मीदवार बनाया है। राकांपा ने केवल एक महिला को टिकट दिया है। मिजो नेशलन फ्रंट (एम एन एफ) की तरफ से कोई महिला प्रत्याशी चुनाव मैदान में नहीं है।