नागपट्टिनम : तमिलनाडु में गाजा तूफान के कहर से तटीय जिलों का जनजीवन प्रभावित है। इस भयानक तूफान से कई जानें जा चुकी हैं और भारी नुकसान हुआ है।खबरों के मुताबिक गाजा चक्रवात से मरने वालों की 45 हो गई है। प्रदेश में जनमानस को राहत देने के लिए लगभग 500 शिविर बनाए गए हैं। इन शिविरों में लगभग ढाई लाख लोग शरण ले रहे हैं।

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई के पलानीस्वामी ने कहा वे प्रभावित इलाकों का दौरा करने के बाद मरने वाले लोगों के परिजनों को 10लाख का मुआवजा दिया जायेगा। और घायलों के परिजनों को 25 हजार रूपए दिए जाएंगे।

संबंधित खबरें

गाजा तूफान ने नागपट्टिनम में मचाई तबाही,13 लोगों की मौत

गाजा तूफान ने तमिलनाडु के नागपट्टिनम में मचाई तबाही, आम जनजीवन पर असर

गाजा तूफान से सबसे ज्यादा प्रभावित क्षेत्र तिरुवरूर, पुडुकोट्टाई, त्रिची, कुड्डालोर, तंजावुर, तिरूवानामलाई और नागपट्टिनम हैं।

आपको बता दें कि चक्रवाती तूफान गाजा बीते शुक्रवार को तमिलनाडु तट से टकराया था। इससे नागपट्टिनम जिला इससे ज्यादा प्रभावित हुआ है।

मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के मुताबिक, तूफान से कई पेड़ जड़ से उखड़ गए। आईएमडी के मुताबिक, तूफान 'गाजा' शुक्रवार रात 12.30 बजे से 2.30 बजे तक नागापट्टिनम और वेदारायणम के बीच टकराया। इस दौरान हवा की रफ्तार 120 किलोमीटर प्रतिघंटा थी।