शिमला: हिमाचल प्रदेश लोक सेवा आयोग के पूर्व अध्यक्ष चंद्रमोहन शर्मा ने कथित तौर पर यहां अपने आवास पर खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। वह 67 साल के थे।

पुलिस के एक अधिकारी ने शुक्रवार को आईएएनएस को बताया कि वह कुछ समय से अवसाद में थे और उन्हें शुक्रवार सुबह उनकी पत्नी ने तहखाने में उनके कमरे में मृत पाया। उनकी पत्नी कथित तौर पर एक दूसरे कमरे में सोई हुई थीं।

पुलिस उपाधीक्षक प्रमोद शुक्ला ने कहा कि उनके आवास से एक सुसाइड नोट और अपराध में प्रयुक्त उनका लाइसेंसी रिवाल्वर बरामद हुआ है।

पुलिस ने कहा कि प्रारंभ में उनके परिवार ने उनके गायब होने की एक शिकायत दर्ज कराई थी। बाद में घर में उनका शव बरामद होने की सूचना पुलिस को दी गई।

उन्होंने यह कदम इसलिए उठाया, क्योंकि वह एक बीमारी से पीड़ित थे। उनके परिवार में उनकी पत्नी के अलावा दो पुत्र हैं। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

वह वर्ष 2009 से 2013 तक राज्य लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष रहे थे। शर्मा प्रारंभ में भारतीय सेना में थे और आर्टिलरी रेजीमेंट में 1972 में उनकी बहाली हुई थी।