वाराणसी: समाजवादी पार्टी के प्रमुख और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव गोवर्धन पूजनोत्सव को लेकर वाराणसी पहुंचे थे। यहां उन्होंने समाजवादी युवजन सभा के जिलाध्यक्ष किशन दीक्षित के घर उनसे मुलाकात की। दीक्षित के यहां से अखिलेश को निकालने में उनके कमांडोज के पसीने छूट गए।

भीड़ को संभालने के लिए एनएसजी कमांडोज ने जमकर घूंसे बरसाये। इस दौरान अखिलेश यादव बस देखते रह गए। भीड़ से घिरे अखिलेश यादव ने अपने ही कार्यकर्ताओं को कोई रियायत नहीं दी। कमांडोज की पहली प्राथमिकता थी कि नेता को भीड़ से बाहर निकालना। इसके चलते जवानों ने सपा के युवा कार्यकर्ताओं से जमकर हाथापाई की।

यह भी पढ़ें:

शिवपाल के घर पहुंचे मुलायम सिंह यादव, दिवाली पर अखिलेश ने चाचा से काटी कन्नी

हालांकि इस दौरान अखिलेश ने अपने समर्थकों को समझाने की नाकाम कोशिश की। जबकि युवा कार्यकर्ता नेता की बात सुनने के लिए तैयार नहीं थे। हर कार्यकर्ता अपने नेता के साथ सेल्फी लेना चाहता था। जिसकी इजाजत सुरक्षाकर्मियों ने नहीं दी।

किशन दीक्षित के घर से निकलते हुए एक कार्यकर्ता का मोबाईल फोन गिर गया। जिसे खुद अखिलेश ने उठाकर कार्यकर्ता को दिया। हालांकि कार्यकर्ताओं के जोश के आगे अखिलेश की भी नहीं चल पा रही थी।

खिड़किया घाट पर अखिलेश यादव ने गोवर्धन पूजनोत्सव में शिरकत की।