झांसी: उत्तर प्रदेश के झांसी में महिला कॉन्सटेबल के जुझारूपन ने डीजीपी को भी प्रभावित किया। दरअसल कॉन्सटेबल अर्चना ड्यूटी और अपनी दुधमुंही बच्ची के बीच गजब का सामंजस्य बैठाकर काम करती हैं। अर्चना ने ऑफिस में अपनी बच्ची के साथ एक फोटो शेयर किया, जो खूब वायरल हुआ है।

सुबह सवेरे घरेलू काम निबटाकर अर्चना ऑफिस पहुंच जाया करती हैं। टेबल पर ही दुधमुंही बच्ची को लिटाकर अपना सरकारी काम शुरू कर देती हैं। उनकी खबर फोटो के साथ एक अखबार में छपी तो डीजीपी ओपी सिंह भी बेहद प्रभावित हुए। उन्होंने तत्काल अर्चना को फोन किया और हालचाल पूछी। डीजीपी ने अर्चना को उनकी सुविधा के मुताबिक आगरा ट्रांस्फर करने का हुक्म दिया है।

यूपी पुलिस में कर्मी अर्चना की कहानी पर लोगों ने उन्हें 21 वीं शताब्दी की रियल महिला का खिताब दिया। डीजीपी ने अर्चना की खबर को ट्वीट भी किया साथ ही उनकी जमकर सराहना की है।

यह भी पढ़ें:

यूपी पुलिस में होगी 56 हजार सिपाहियों की भर्ती, जानिए कब होगी परीक्षा

कोतवाली थाने में तैनात अर्चना झांसी में रेंट के मकान में रहती हैं। उनकी बड़ी बिटिया दादा दादी के साथ कानपुर में रहती हैं। अब छोटी दुधमुंही बेटी को रिश्तेदारों के यहां छोड़ नहीं सकतीं। इसलिए अर्चना अक्सर अपनी बच्ची के साथ ही ऑफिस में अटेंड करती हैँ।

अर्चना के सीनियर्स इस बात की तस्दीक करते हैं कि वो अपनी काम में कतई लापरवाही नहीं बरतती हैं। बच्ची का ख्याल रखने के साथ ही सरकारी काम काज निपटाने में उसी तल्लीनता से जुटी होती हैं।