सबरीमाला विवाद : पुजारी ने मंदिर बंद करने की दी धमकी, वापस लौटीं महिलाएं

कड़ी सुरक्षा में महिला को ले जाते पुलिस - Sakshi Samachar

तिरुवनंतपुरम : केरल के प्रसिद्ध सबरीमाला मंदिर में 10 से 50 साल तक की महिलाओं की एंट्री पर घमासान जारी है। सबरीमाला मंदिर के कपाट को खुले आज तीन दिन हो गए हैं। लेकिन अब भी मंदिर के दर पर महिलाओं का प्रवेश नहीं हो पाया है। इस बीच मंदिर के आस-पास लगातार हिंसा का माहौल बना हुआ है।

शुक्रवार को भी मंदिर के बाहर नारेबाजी और हंगामा हो रहा है। भारी सुरक्षा के बीच पुलिस दो महिलाओं को हेलमेट पहनाकर मंदिर की तरफ ले जा रही थी। उन्हें रोकने के लिए प्रदर्शनकारी नारेबाजी और हंगामा कर रहे थे। भारी विरोध के बाद दोनों महिलाओं को आधे रास्ते से वापस लौटा दिया गया। इनमें एक पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता शामिल थीं।

इस बीच पुलिस ने कई प्रदर्शनकारियों को हिरासत में भी लिया। प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारियों और पुलिस में बहस हो गई। आईजी श्रीजीत ने प्रदर्शनकारियों से कहा कि हमें कानून व्यवस्था को ठीक रखना है, मैं भी अयप्पा का भक्त हूं। लेकिन हमें कानून को लागू करना है।

इसे भी पढ़ें :

सबरीमाला के बाद अब कर्नाटक के इस मंदिर में महिला के प्रवेश पर विवाद

सबरीमाला संरक्षण समिति का आज केरल बंद का आह्वान, भाजपा भी साथ

वहीं मंदिर के मुख्य पुजारी ने धमकी दी है कि अगर महिलाएं मंदिर के अंदर प्रवेश करती हैं तो वह वह मंदिर बंद कर उसकी चाबी मैनेजर को देकर चला जाएगा। जिसके बाद पुलिस ने भी दोनों महिलाओं को वापस जाने को कहा।

साथ ही केरल सरकार का भी पक्ष सामने आ गया है। राज्य देवासम (धार्मिक ट्रस्ट) मंत्री काडाकमपल्ली सुंदरन ने कहा कि कुछ ऐक्टिविस्ट भी मंदिर में घुसने की कोशिश कर रहे हैं। सरकार के लिए यह चेक करना असंभव है कि कौन श्रद्धालु है और कौन ऐक्टिविस्ट।

उन्होंने कहा कि हम जानते हैं कि वहां 2 ऐक्टिविस्ट हैं, जिनमें एक पत्रकार भी मानी जा रही हैं। मंत्र ने कहा, 'हर उम्र के लोगों को प्रवेश की अनुमति है लेकिन हम यहां ऐक्टिविस्टों को आकर अपनी ताकत दिखाने की अनुमति नहीं दे सकते।'

Advertisement
Back to Top