अमृतसर में बड़ा ट्रेन हादसा: करीब 100 लोगों के कुचले जाने की आशंका, कइयों की मौत

दुर्घटनास्थल की तस्वीर - Sakshi Samachar

अमृतसर: पठानकोट से अमृतसर जा रही ट्रेन जौड़ाबाजार के पास बड़ी दुर्घटना का सबब बनी। करीब 100 लोगों के ट्रेन के चपेट में आने की बात कही जा रही है। जिसके चलते बड़ी संख्या में लोगों की मौतें हुई हैं। फिलहाल आधिकारिक पुष्टि का इंतजार है।

बताया जाता है कि रेलवे ट्रैक के पास ही रावण का पुतला जलाया जा रहा था। इसी दौरान ट्रेन आ गई और बड़ी संख्या में लोग ट्रेन की चपेट में आ गए।

बताया जाता है कि ट्रैक के दोनों ओर लाशे बिखरी हुई हैं। ये सभी लोग ट्रैक के पास बने ग्राउंड में आस-पास के लोग दशहरे का उत्सव देख रहे थे। भीड़ उत्सव देखते-देखते ट्रैक पर पहुंच गई। घटना अमृतसर के जौड़ा फाटक की है। हादसा अमृतसर दिल्ली रेलवे ट्रैक पर हुआ। ट्रैक पर दो ट्रेने एक साथ आ गई थी। जिस वजह से हादसा हुआ है। ग्राउंड से लेकर ट्रैक तक सैकड़ों की संख्या में लोग खड़े थे। सहज ही आप अंदाजा लगा सकते हैं कि कितना बड़ा हादसा है ये।


जोड़ा बाजार इलाका नवजोत सिंह सिद्धु के विधानसभा क्षेत्र में आता है। लोग सिद्धु से खासे नाराज नजर आए। कुछ लोगों ने दावा किया कि सिद्धु की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू भी मौके पर मौजूद थीं और हादसे के बाद तत्काल वे गाड़ी में बैठकर रवाना हो गईँ।

लोगों की शिकायत है कि नवजोत कौर सिद्धू खुद डॉक्टर होने के बावजूद लोगों की मदद करना जरूरी नहीं समझा।

इस मामले में रेलवे प्रशासन पर भी निशाना साधा जा रहा है। आखिर रेलवे प्रशासन ने ट्रैक के पास रावण दहन की इजाजत कैसे दी। जबकि ये विदित होना चाहिए कि इस तरह के आयोजन में भारी भीड़ इकट्ठी होती है।


जनदबाव के कारण अगर इस तरह का आयोजन किया भी गया तो ट्रेन चालकों को हिदायत क्यों नहीं दी गई कि वे भीड़ के मद्देनजर सतर्क रहें? इस बड़े मामले को लेकर रेलवे प्रशासन सकते में है। कोई भी अधिकारी कुछ बोलने के लिए तैयार नहीं हैँ।

स्थानीय लोगों ने प्रशासन के रवैये पर नाराजगी जाहिर की। प्रत्यक्षदर्शियों ने इस बात की पुष्टि की कि ट्रेन की स्पीड काफी अधिक थी। घटना के बाद मौके पर चीख पुकार मच गई। लोग अपनों की लाशें तलाशने के लिए अंधेरे में इधर से उधर भटकते हुए पाए गए। फिलहाल प्रशासन की पहली प्राथमिकता घायलों को तत्काल अस्पताल पहुंचाने की है। स्थानीय लोग भी इस काम में सहयोग कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें:

VIDEO देखने के बाद ट्रेन के दरवाजे पर खड़े होने से कर लेंगे तौबा

प्रशासन ने आस पास के सभी अस्पतालों को मौके पर तत्काल एम्बुलेंस भेजने के लिए कहा है। वहीं प्रशासनिक अधिकारियों और कर्मचारियों को तत्काल अपनी छुट्टियां रद्द कर मौके पर पहुंचने का निर्देश दिया गया है।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक एक किलोमीटर के दायरे में शव बिखरे पड़े हैं। फिलहाल घायलों को अस्पताल ले जाया जा रहा है। प्रशासन और सरकारी एजेंसियां हरकत में है, वहीं इलाके में त्राहिमाम की स्थिति है।

Advertisement
Back to Top