चंडीगढ़: पंजाब सरकार ने राज्य में भारी बारिश के मद्देनजर सोमवार को 'रेड अलर्ट' जारी किया और जिला प्रशासन से सतर्कता बनाए रखने की अपील की। मुख्यमंत्री कार्यालय के एक प्रवक्ता ने यहां बताया कि मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने बाढ़ जैसी स्थिति से निपटने के लिए व्यवस्था की समीक्षा करने के लिए सोमवार को एक बैठक भी बुलाई है। उन्होंने बताया, "राज्य में मूसलाधार बारिश के मद्देनजर रेड अलर्ट जारी किया गया है।'' प्रवक्ता ने बताया कि बारिश को देखते हुए जिला प्रशासन से लगातार नजर बनाए रखने को कहा गया है।

पंजाब में पिछले दो दिनों से बारिश हो रही है और सोमवार को भी मूसलाधार बारिश हुई। इसके कारण राज्य प्रशासन बाढ़ जैसी स्थितियों से निपटने के लिए तैयारियों की समीक्षा करेगी। प्रवक्ता ने बताया कि जिला नियंत्रण कक्ष को त्वरित प्रतिक्रिया के लिए सक्रिय कर दिया गया है और सेना को भी सतर्क कर दिया गया है। उन्होंने कहा, "सेना को आपात स्थिति के लिए तैयार रहने को कहा गया है।'' प्रवक्ता ने बताया कि जिला प्रशासन से नदियों के जलग्रहण इलाकों में किसी बचाव अभियान के लिए पर्याप्त नौकाओं का प्रबंध करने को कहा गया है।

अमृतसर में रविवार को 145 मिलीमीटर बारिश हुई। शहर में अधिकतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से 11 डिग्री नीचे है।

स्वर्ण मंदिर परिसर में पवित्र जल का स्तर भी बढ़ गया है जिससे वहां आने वाले श्रद्धालुओं के लिए समस्याएं पैदा हो गई। दोनों राज्यों के विभिन्न हिस्सों में यातायात प्रभावित है।

चंडीगढ़ में कई जगह जलभराव होने से यातायात बाधित हुआ। हरियाणा के पंचकुला और पंजाब के मोहाली के से सटे इलाकों में प्रशासन को जलभराव की शिकायतें मिल रही हैं।

यह भी पढ़ें:

हैदराबाद में हुई मुसलाधार बारिश की देखें तस्वीरें

पंजाब के नवांशहर जिले में रविवार को एक छत ढहने से दो लोगों की मौत हो गई। लगातार बारिश के कारण दोनों राज्यों में अधिकतम तापमान में गिरावट आई है। अधिकतम तापमान सामान्य से छह से 11 डिग्री नीचे चला गया।

जम्मू एवं कश्मीर के कठुआ में 30 लोगों को बचाया गया

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि भारी बारिश के बाद यह लोग जिले के विभिन्न हिस्सों में फंस गए थे। उन्हें बिलावर, नागरी, जखोले और छब्बे चक सहित विभिन्न इलाकों में रातभर चले अभियान के दौरान सुरक्षित निकाला गया। इस राहत अभियान को राज्य पुलिस और राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) ने अंजाम दिया।

लगातार बारिश से जम्मू क्षेत्र के जलाशय और नदियां उफान पर हैं लेकिन मौसम में सुधार के साथ प्रशासन ने उम्मीद जताई है कि मंगलवार तक अगले 24 घंटों में पानी का स्तर घट जाएगा।

डोडा जिले में सभी शैक्षणिक संस्थानों को बंद कर दिया गया है। रामबन सेक्टर में रविवार को भारी बारिश के कारण बंद किए गए जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर यातायात सोमवार को बहाल कर दिया गया।

दिल्ली में भी बारिश की फुहार

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सुबह के दौरान कुछ इलाकों में हल्की बारिश हुई। साथ ही शहर का न्यूनतम तापमान 24 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जिसके कारण मौसम खुशनुमा रहा। मौसम विभाग के मुताबिक, मौसमविद ने आसमान में आंशिक रूप से बादल छाये रहने और मध्यम बारिश एवं गरज के साथ छीटें पड़ने की संभावना व्यक्त की है। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘न्यूनतम तापमान 24 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और अधिकतम तापमान औसत से तीन डिग्री सेल्सियस नीचे 31 डिग्री सेल्सियस के करीब बने रहने का अनुमान है।'' आर्द्रता 92 प्रतिशत दर्ज किया गया और बारिश 16.3 मिलीमीटर दर्ज किया गया। सोमवार को दिल्ली के मध्य एवं पूर्वी हिस्सों में हल्की बारिश हुई। कल का अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमश: 31.2 और 24 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।