इलाहाबाद: उत्तर मध्य रेलवे में ट्रेनों के परिचालन की कमान संभालने वाले बड़े रेल अधिकारी रवि वल्लूरी ने आर्ट ऑफ लिविंग के तीन दिवसीय आनंद उत्सव की कमान संभाली। अधिकारी रवि वल्लूरी ने सुदर्शन क्रिया के जरिए लोगों को बताया कि कैसे वे अपने को ऊर्जावान रख सकते हैं। इस पूरी प्रक्रिया में योग, ध्यान और अद्वितीय श्वास क्रिया शामिल है।

तीन दिवसीय इस आनंद उत्सव का आज समापन हुआ। इस कार्यक्रम में श्रीश्री रविशंकर के बेंगलुरु स्थित आश्रम का पूरा सहयोग और दिशा-निर्देश रहा।

बता दें कि इस आध्यात्मिक वर्कशॉप में उत्तर मध्य रेलवे के प्रमुख मुख्य परिचालन प्रबंधक रवि वल्लुरी ने गुरू और प्रशिक्षक की भूमिका निभाई। इस दौरान श्री श्री रविशंकर के बेंगलुरु स्थित आश्रम से देशभर के 1300 केंद्र स्काइप के जरिए जोड़े गए थे। इस तरह हजारों की संख्या में लोगों ने योग को अपनाकर अपने को तरोताजा किया।

रवि वल्लूरी लोगों को सुदर्शन क्रिया सिखाते हुए
रवि वल्लूरी लोगों को सुदर्शन क्रिया सिखाते हुए

सुदर्शन क्रिया करने के बाद लोगों ने माना कि वे खुद को अधिक ऊर्जावान महसूस कर रहे हैं।

साक्षी समाचार से बात करते हुए रवि वल्लूरी ने बताया कि वे इस तरह के कार्यक्रमों में बतौर प्रशिक्षक शामिल होकर अच्छा महसूस करते हैं।

खास बात ये रही कि इस कार्यक्रम में सभी धर्मों के लोगों ने हिस्सा लिया। वल्लूरी ने जानकारी दी कि आर्ट ऑफ लिविंग दुनिया के 155 देशों में फैल चुका है। जहां लोग सुदर्शन क्रिया का फायदा उठा रहे हैं। इलाहाबाद में आयोजित कार्यक्रम में इलाहाबाद विश्वविद्यालय की डॉ रत्ना शर्मा ने भी अहम योगदान दिया।