नई दिल्ली : उपराष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू ने बच्चों की प्रारंभिक शिक्षा में मां, मातृभूमि और मातृभाषा को वरीयता देने की जरूरत पर बल देते हुये कहा है कि इससे बच्चों का शैक्षिक आधार मजबूत बनेगा।

नायडू ने आज स्वतंत्रता दिवस से पहले स्कूली बच्चों से मुलाकात के दौरान कहा कि नौनिहालों को देश का जिम्मेदार नागरिक बनाया जाना चाहिये। उन्होंने कहा कि बच्चों की पहली शिक्षक मां होती है। बच्चों को मां, मातृभूमि और मातृभाषा के बारे में पढ़ाया जाना चाहिये, जिससे उनकी शिक्षा की शुरुआत मातृभाषा में हो तथा उनकी समझ का आधार मजबूत बन सके।

ये भी पढ़ें : कोविंद, नायडू, मोदी का प्लास्टिक इस्तेमाल नहीं करने का आग्रह

नायडू ने बच्चों के लिए देश की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और परंपराओं को भी पाठ्यक्रम में शामिल करने की जरूरत पर बल देते हुये सुझाव दिया कि बच्चों को देश का जिम्मेदार नागरिक बनाने का दायित्व शिक्षकों का है और वे इसका निर्वाह करें। इस मौके पर बच्चों ने उपराष्ट्रपति को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनायें दीं।