नई दिल्ली : इस साल के आखिर तक होने जा रहे तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव भाजपा के लिए भारी पड़ रहे हैं। चुनाव पूर्व एबीपी न्यूज व सी-वोटर द्वारा किए गए सर्वे के मुताबिक तीनों भाजपा शासित राज्यों छत्तीसतगढ़, मध्य प्रदेश और राजस्थान में लोग भाजपा को सत्ता से विदा करने के पक्ष में हैं। दूसरी तरफ, एबीपी न्यूज-सी वोटर का यह सर्वे कांग्रेस पार्टी के लिए राहत और खुशी लेकर आया है।

ओपिनियन पोल के अनुसार मध्य प्रदेश में कांग्रेस को बीजेपी से दो फीसदी ज़्यादा वोट मिलते दिख रहे हैं। ओपिनियन पोल के मुताबिक बीजेपी को 40%, कांग्रेस को 42% तथा अन्य को 18 % वोट मिलने की सम्भावना है। ओपिनियन पोल के मुताबिक मध्य प्रदेश में कुल 230 सीटों में से कांग्रेस को 117सीटें, बीजेपी को106 सीटें तथा अन्य को 7 सीटें मिलने की उम्मीद जताई गयी है।

मध्य प्रदेश में सीएम के तौर पर लोकप्रियता के मामले में एक बार फिर शिवराज सिंह चौहान ने बाजी मार ली है। ओपिनियन पोल के मुताबिक प्रदेश के सीएम के लिए शिवराज सिंह चौहान 42 फीसदी लोगों की पसंद हैं वहीँ कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया 30% तथा कमलनाथ 9% लोगों की पसंद हैं।

इसे भी पढ़ें :

PM मोदी का मजाक भले ही उड़ा लीजिए, लेकिन सच में यह व्यक्ति नाले की गैस से बनाता है चाय

इस सर्वेक्षण में कराए गए ओपनियन पोल के मुताबिक छत्तीसगढ़ में लगातार तीन बार मुख्यमंत्री रहे रमण सिंह सरकार को यहां हार का सामना करना पड़ेगा, हालांकि यहां कांटे की टक्कर की पूरी संभावना है। इस सर्वे के मुताबिक राज्य में सत्तारूढ़ भाजपा का जहां 39 फीसदी लोगों ने समर्थन किया है, वहीं 40 फीसदी कांग्रेस को तथा 21 प्रतिशत लोगों ने अन्य को अपना समर्थन दिया है। ओपनियन पोल के अनुसार छत्तीसगढ़ में भाजपा को 33, कांग्रेस को 54 तथा 3 सीटें अन्य के खातें में जा सकती हैं। हालांकि राज्य में बतौर मुख्यमंत्री के तौर पर रमण सिंह ही पहली पसंद है।

ओपनियन पोल के मुताबिक मध्य प्रदेश में भाजपा की स्थिति बहुत ही खराब दिख रही है। यहां मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस को भाजपा से अधिक वोट मिलने की संभावना है। इस ओपनियन पोल के मुताबिक कांग्रेस को 42 फीदसी, भाजपा को 42 फीसदी तथा अन्य को 18 प्रतिशत वोट मिल सकते हैं। राज्य की कुल 230 सीटों में से भाजपा को 106 और कांग्रेस को 117 सीटें तथा अन्य को 7 सीटें मिलती दिख रही हैं।

लोकप्रियता के मामले में मुख्यमंत्री के तौर पर इस बार भी शिवराज सिंह चौहान ही पहली पसंद हैं। उनके बाद 30 प्रतिशत लोगों ने ज्योतिरादित्या सिंधिया को और सिर्फ 9 फीसदी लोग कमलनाथ को मुख्यमंत्री के रूप में देखना पसंद करते हैं।

इसे भी पढ़ें :

रद्द हो सकती है अमित शाह की राज्यसभा सदस्यता, वजह कुछ ऐसी है

उसी तरह राजस्थान में कांग्रेस की स्थिति काफी मजबूत साबित हो रही है और यहां कांग्रेस धमाकेदार वापसी कर सकती है। ओपनियन पोन के मुताबिक राजस्थान में कांग्रेस को इस बार 51 फीसदी वोट मिल सकते हैं, जबकि सत्तारूढ़ भाजपा को 37 फीसदी वोट ही मिल पाएंगे। उसी तरह, अन्य को 10 से 12 फासदी मत मिलने की उम्मीद है।

राज्य की कुल 200 सीटों में सत्तारूढ़ भाजपा को केवल 57 सीटें मिल सकती है, जबकि मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस को 130 और अन्य को 13 सीटें मिलने की उम्मीद है। यहां मुख्यमंत्री पद से लिए पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पहली पसंद ही, वहीं दूसरे स्थान पर मौजूदा मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और सचिन पायलट तीसरी पसंद है।