सावन का महीना चल रहा है और मासिक शिवरात्रि गुरुवार को मनाई जाएगी। भगवान शिव को को प्रसन्न करने और अपनी मनोकामनाएं पूरी होने की कामना करने के लिए ये दिन अच्छा माना जाता है। मासिक शिवरात्री का मनाए जाने की अपनी अलग प्रथा है, कहते है कि मासिक शिवरात्रि के दिन भगवान भोलेनाथ शिवलिंग रुप में प्रगट होते हैं।

इस दिन भगवान शिव की कृपा पाने के लिए शिवलिंग पर जल और ऊं नम: शिवाय मंत्र का जप करना शुभ होता है। लेकिन कई बार पूजा के दौरान अनजाने में हमसे ऐसी भूल हो जाती है, जिसके कारण हमारी पूजा असफल हो जाती है। चलिए हम आपको बताते है कि शिव की पूजा के दौरान क्या ना करें।

ये भी पढ़ें---

ये फूल बदल सकते हैं आपकी किस्मत, सावन में करें बस यह काम

सावन की दूसरी सोमवारी आज, इस मंत्र के जाप से शिवलिंग पर चढ़ाएं कच्‍चा दूध, होगी मनोकामना पूरी

* शास्त्रों के मुताबिक शिवलिंग पर तुलसी के पत्ते नहीं चढ़ाना चाहिए।

* भगवान शिव की शिवलिंग पर जल चढ़ाते हुए और उनकी पूजा-अर्चना करते हुए काले कपड़े नहीं पहनने चाहिए।

* इसके साथ जब आप शिवलिंग पर जल चढ़ा रहे हो तो आपको सात में ये भी ध्यान रखना है कि जल जो बाहर की तरफ आए उसे कोई ना लांघे।

* शिवलिंग की पूजा के दौरान सिंदूर, तिल और हल्दी ना चढ़ाए।

* शिवरात्री के दिन किसी भी व्यक्ति को अपशब्द नहीं बोलना चाहिए इससे भगवान शिव नाराज हो जाते हैं।