लखनऊ : उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के दो दिवसीय दौरे के दूसरे दिन रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 60 हजार करोड़ रुपये के निवेश की 81 परियोजनाओं का शिलान्यास किया। कार्यक्रम में संबोधित करते हुए कांग्रेस का नाम लिए बगैर पीएम ने तंज कसते हुए कहा, 'जब नीयत साफ हो, इरादे नेक हों तो परिणाम दिखता है। महात्मा गांधी का जीवन इतना पवित्र था, लेकिन उनको बिड़ला जी के साथ रहने में कभी दिक्कत नहीं हुई है, क्योंकि उनकी नीयत साफ थी।'

इस दौरान देश के कई नामी-गिरामी उद्योगपति भी कार्यक्रम में मौजूद रहे। पीएम ने कहा कि ‘जैसे एक मजदूर, किसान जनता की भागीदारी होती है वैसे ही देश के उद्योगकारों की देश को बनाने में अहम भूमिका रहती है। क्या हम उन्हें अपमानित करेंगे? चोर, लूटेरे कहेंगे?’

पीएम ने कहा कि उद्योगपतियों के साथा का विरोध करने वाले पर्दे के पीछे तो उनसे खूब मुलाकात करते हैं और सामने आकर उनका ही विरोध करते हैं। नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के द्वारा कांग्रेस पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने कहा कि उध्योगपतियों का साथ जरूरी है, लेकिन जो गलत करेगा उसे या तो देश छोड़कर भागना पड़ेगा या फिर जेल में जीवन बिताना पड़ेगा। पहले ऐसा नहीं होता था क्योंकि आज जो लोग विरोध कर रहे हैं पहले वो पर्दे के पीछ से इन्हें सपोर्ट करते थे। यह सबको मालूम है कौन लोग किसके हवाई जहाज से घूमते रहे।

81 परियोजनाओं का दिया तोहफा

आयोजन की तैयारियों से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एकमुश्त 60,228 करोड़ की निवेश परियोजनाओं का शिलान्यास किया। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री शनिवार को भी लखनऊ आए थे और यहां उन्होंने 3,897 करोड़ रुपये की 99 परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया था।

‘भागीदार को इल्जाम नहीं, इनाम मानता हूं’

शनिवार को प्रधानमंत्री ने केंद्र सरकार की तीन प्रमुख योजनाओं- अमृत योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) और स्मार्ट सिटी परियोजना की तीसरी वर्षगांठ के मौके पर 3897 करोड़ रुपये की 99 परियोजनाओं का शिलान्यास किया और कहा कि वह देश के चौकीदार नहीं हैं, भागीदार हैं, इस इल्जाम को इनाम मानते हैं।

उत्तर प्रदेश के वाराणसी से सांसद मोदी ने इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में इन तीनों प्रतिष्ठित योजनाओं को लेकर आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने विपक्ष पर वार करते हुए कहा, "आजकल मुझ पर इल्जाम लगाया जा रहा है कि मैं देश का चौकीदार नहीं हूं, भागीदार हूं। मैं इस इल्जाम को इनाम मानता हूं और मुझे गर्व है कि मैं देश के हर उस गरीब की गरीबी का भागीदार हूं, हर उस गरीब परिवार की पीड़ा का जो घर में बीमार पड़ जाने के बाद जमीन तक बेचने के लिए परेशान हो जाते हैं।"

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान पीएनबी घोटाले का जिक्र करते हुए नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के विदेश भाग जाने के संदर्भ में कहा था कि "मोदी कहते हैं कि वह देश के चौकीदार हैं, लेकिन उन्होंने आरोपियों को देश से भागने दिया, इसका मतलब है कि वह भी इसमें भागीदार हैं।"

यह भी पढ़ें :

महबूबा की PM मोदी से अपील – इमरान खान की ‘दोस्ती’ की पेशकश करें कबूल

लखनऊ में मोदी- पिछली सरकारें अपने बंगले संवारने में लगी रहीं, मैं गरीबों के दुख का भागीदार हूं

मोदी ने कहा, "सैनिकों के बलिदान का मैं भागीदार हूं जो सियाचिन और कारगिल जैसी हाड़ कंपाने वाली ठंड में भी हमारी सुरक्षा के लिए मर रहे हैं। मैं भागीदार हूं हर उस कोशिश का, जिससे हमारे युवाओं को हुनर और नौकरियां मिले।"

प्रधानमंत्री ने कहा ,"उत्तर प्रदेश से मैं सांसद हूं। इसलिए सबसे पहले उत्तर प्रदेश के प्रतिनिधि के रूप में देश के अलग-अलग हिस्सों से आए लोगों का स्वागत करता हूं। देश के गरीब, बेघर भाई-बहनों के जीवन को बदलते हुए देखना, जीवन को संतोष देने वाला एक अनुभव है।"