लखनऊ : उत्तर प्रदेश में पिछले 48 घंटों में बारिश से संबंधित हुए हादसों में लगभग 37 लोगों की मौत हुई है। मौसम विभाग ने कहा कि राज्य में लगातार तीसरे दिन शनिवार को भी कई हिस्सों में बरसात होना जारी है। जिला अधिकारियों से किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने को कहा गया है क्योंकि मौसम विभाग ने आने वाले दिनों में और ज्यादा बारिश होने की आशंका जताई है।

राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अनुसार, बारिश संबंधी घटनाओं में आगरा में छह लोगों की मौत हुई है, जबकि मुजफ्फरनगर और कासगंज में तीन, मेरठ और मैनपुरी में चार, बरेली में दो और कानपुर देहात, मथुरा, गाजियाबाद, हापुड़, रायबरेली, जालौन, जौनपुर, प्रतापगढ़, बुलंदशहर, फिरोजाबाद और अमेठी में एक-एक की मौत हुई है।

राहत व बचाव कार्य के बीच सहारनपुर में शुक्रवार को चार लोगों की मौत होने की खबर है। मकान ढहने, दीवार गिरने, आकाशीय बिजली और आंधी-तूफान की घटनाओं में दो दर्जन से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। कानपुर देहात, मुजफ्फरनगर, ललितपुर और प्रतापगढ़ में चार मवेशियों की मौत होने की भी खबर है। राज्य में प्रमुख क्षेत्रों में भारी बारिश जारी रही, जिससे कई नदियों में उफान है।

यह भी पढ़ें :

यमुना ने पार किया खतरे का निशान, दिल्ली में जारी हुई बाढ़ की चेतावनी

केरल: भारी बारिश से तीन लोगों की मौत, दो सप्ताह में मरनेवालों की संख्या हुई 20

राज्य की राजधानी में रातभर से बारिश हो रही है, जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार पहुंचने वाले हैं। शहर के अधिकांश हिस्सों में पानी भरने से यह द्वीप जैसा हो गया है। हरिहरनगर, इंदिरानगर, गोमतीनगर, सप्रू मार्ग, अलीगंज, सीतापुर रोड और अमीनाबाद में तार टूटने और ट्रांसफार्मर फूंक जाने की घटनाओं के चलते बिजली गुल होने की भी खबरे हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के परिवारों को 4 लाख रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की है।

-आईएएनएस