भोपाल : मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा विंध्य क्षेत्र में जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को कथित तौर पर देशद्रोही कहने के मामले ने तूल पकड़ लिया है।

दिग्विजय ने शिवराज को पत्र लिखकर कहा है कि अगर वह (दिग्विजय) देशद्रोही हैं तो उन पर कार्रवाई हो, वह स्वयं 26 जुलाई को भोपाल के टीटी नगर में गिरफ्तारी देने जाएंगे।

दिग्विजय ने शनिवार को मुख्यमंत्री चौहान के नाम एक पत्र लिखा है, "आपने मुझ पर देशद्रोही होने का आरोप लगाया है, आप मुख्यमंत्री हैं, इस नाते प्रदेश की सीमाओं में राष्ट्र की एकता और अखंडता को अक्षुण रखना आपका संवैधानिक कर्तव्य है। देशद्रोह गंभीर आरोप है, एक पूर्व मुख्यमंत्री होने के नाते मैं आपसे आग्रह करता हूं कि देशद्रोह की किसी भी घटना को हल्के में न लें।"

अपने दो पृष्ठ के पत्र में दिग्विजय ने आगे लिखा कि उन्होंने संविधान की शपथ ली है, "हो सकता है कि आपको (चौहान) अपनी शपथ के पालन में कोई बाधा आ रही हो, लेकिन मैं इस शपथ का पालन करता हूं।

इसलिए भारत माता की एकता और अखंडता की सुरक्षा के लिए मैंने खुद को कानून के हवाले करने का निर्णय लिया है। मैं 26 जुलाई को भोपाल के टीटी नगर थाने में खुद को पुलिस के हवाले करूंगा।"दिग्विजय ने पत्र के साथ अखबारों की कतरनें भी भेजी हैं।

ये भी पढ़ें---

नितिन गडकरी से दिग्विजय ने मांगी माफी, बोले- पॉलिटिकल हिट में लगाए थे आरोप

नर्मदा यात्रा के बाद 15 मई से नई राजनीतिक यात्रा शुरू करेंगे दिग्विजय सिंह