श्रीनगर : कश्मीर पर पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ के एक विचार का समर्थन करने को लेकर खड़े हुए विवाद के बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सैफुद्दीन सोज ने फिर से विवादित बयान दिया है। इस बार उन्होंने सरदार वल्लभ भाई पटेल को लेकर विवादित टिप्पणी की है।

सैफ़ुद्दीन सोज ने कहा कि वल्लभ भाई पटेल हमेशा चाहते थे कि कश्मीर का विलय पाकिस्तान में हो जाए, लेकिन जवाहर लाल नेहरू की वजह से ऐसा नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि सरदार पटेल ने हैदराबाद के बदले पाकिस्तान को कश्मीर की पेशकश की थी, लेकिन नेहरू को कश्मीर से विशेष प्रेम था।

यह भी पढ़ें :

देश तोड़ने की कोशिश में जुटीं ताकतों का समर्थन कर रही कांग्रेस : भाजपा

गुलाम नबी के बयान पर भाजपा हमलावर, सोनिया-राहुल से मांगा जवाब

दरअसल, सोज ने अपनी पुस्तक 'कश्मीर ग्लिम्पसेज ऑफ हिस्ट्री एंड द स्टोरी ऑफ स्ट्रगल' में परवेज मुशर्रफ के उस बयान का समर्थन किया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर वोटिंग की स्थितियां होती हैं तो कश्मीर के लोग भारत या पाक के साथ जाने की अपेक्षा अकेले और आजाद रहना पसंद करेंगे।

संप्रग सरकार में मंत्री रहे सोज ने यह भी दावा किया कि घाटी में मौजूदा हालात के लिए भाजपा नीत केंद्र सरकार की नीतियां जिम्मेदार हैं। उन्होंने कहा कि कश्मीर के लोगों के लिए शांतिपूर्ण माहौल की स्थापना जरूरी है, जिससे यहां के लोग शांति से रह सकें।