दीदी मीसा को दरकिनार करके क्या संदेश देना चाह रहे हैं तेजस्वी, मां-बड़े भइया हैं साथ

डिजाइन फोटो  - Sakshi Samachar

पटना : बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव रविवार से पूरे बिहार में बेरोजगारी भगाओ यात्रा पर निकल रहे हैं। आरजेडी के युवराज की 'बेरोजगारी हटाओ यात्रा' अपने युवा क्रांति रथ पर बैठकर करने जा रहे हैं। इसके पहले वह पटना के वेटनरी ग्राउंड में एक विशाल जनसभा को संबोधित करेंगे।

इस वेटनरी ग्राउंड में बड़ी रैली में अभी तक तो सब कुछ ठीक ठाक दिख रहा है पर लोगों को एक बड़ी बात खटक रही है कि पूरी रैली में दीदी मीसा भारती को जगह नहीं दी गयी है, जिसको लेकर पार्टी के अंदर व बाहर एक नई चर्चा सुनने को मिल रही है। हालांकि इस रैली में तेजस्वी को बड़े भईया तेजप्रताप यादव के साथ साथ मां राबड़ी देवी का पूरा साथ मिल रहा है।

एक चुनावी सभा में तेजस्वी यादव 

बड़े कटआउट्स से गायब है बहना

पटना के वेटनरी ग्राउंड में पार्टी की ओर से कई बड़े-बड़े कटआउट्स लगाए गए हैं, जिसमें लालू-राबड़ी के साथ तेज-तेजस्वी चारों तरफ देखे जा रहे हैं, लेकिन एक बात सबको खटक रही है कि आखिर उन कट्आउट्स में आरजेडी सांसद और लालू की बड़ी बेटी मीसा भारती को जगह क्यों नहीं दी गयी है। आमतौर पर बड़े कार्यक्रमों में पहले ऐसा नहीं होता था।

राजनीति में लालू प्रसाद यादव परिवार के सदस्य 

परिवार की सियासी विरासत की लड़ाई

दरअसल लालू परिवार सियासी विरासत की लड़ाई पुरानी हो गयी है। घर में जो सत्ता की लड़ाई छिड़ी है उससे आम लोगों के बीच एक धारणा बन गई है कि मीसा बड़े भाई तेज प्रताप के समर्थन में ज्यादा देखी जाती हैं। कहा जाता है कि परिवार में तीनों की अपनी-अपनी महत्वाकांक्षाएं हैं। वैसे तो मीसा को दोनों भाई बड़ी बहन तो मानते हैं, लेकिन छोटे भाई तेजस्वी व्यवहार पक्ष में मीसा को बतौर नेता स्वीकार नहीं करते हैं और वह खुद को लालू प्रसाद यादव का राजनीतिक उत्तराधिकारी मानते हैं।

इसे भी पढ़ें :

चुनाव के पहले बिहार में शुरू हो गई ‘डर्टी पॉलिटिक्स’, हो रहा चोर,कुत्ते का इस्तेमाल

तेजस्वी के ‘हाईटेक’ लग्जरी बस को लेकर विवाद, जदयू ने लगाया ये आरोप

बता दें कि बेरोजगारी हटाओ यात्रा की शुरुआत आज पटना के वेटनरी कॉलेज मैदान से होगी। जहां पर एक बड़ी जनसभा का आयोजन किया गया है। बता दें कि 24 फरवरी से बिहार विधानसभा का बजट सत्र शुरू हो रहा है, इसी वजह से तेजस्वी की यह यात्रा रोजाना नहीं होगी, बल्कि विधानसभा सत्र की वजह से ब्रेक लेकर वह इस यात्रा को जारी रखने की कोशिश करेंगे।

Advertisement
Back to Top