PK की मुहिम के जवाब में जदयू का ‘चलो नीतीश के साथ चलें’ अभियान

सीएम नीतीश कुमार ( फोटो : सौ, सोशल मीडिया)  - Sakshi Samachar

पटना : चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (पीके) के 'बात बिहार की' अभियान के जवाब में सत्तारूढ़ जनता दल (युनाइटेड) ने बिहार के छात्र और युवाओं को दल से जोड़ने को लेकर अगले माह से एक बड़े अभियान की शुरुआत करने की योजना बनाई है। इस अभियान का नाम 'चलो नीतीश के साथ चलें' रखा गया है। यह अभियान 15 मार्च से शुरू किया जाएगा।

जद (यू) के एक नेता ने शनिवार को बताया कि इस अभियान के तहत राज्य के सभी 477 अंगीभूत और संबद्ध महाविद्यालयों में स्टॉल लगाकर विद्यार्थियों को पार्टी से जोड़ने की राज्यव्यापी मुहिम चलाई जाएगी।

कुछ महीने पहले जद (यू) ने बिहार में 'क्यों करें विचार, ठीके हैं नीतीशे कुमार' नारा लॉन्च किया था। अब विधानसभा चुनाव के मद्देनजर 'सच्चा है, अच्छा है, चलो नीतीश के साथ चलें' नारे के साथ पार्टी ने चुनाव में उतरने की रणनीति बनाई है।

इस अभियान के तहित सेमिनार, बैठकों और गोष्ठियां आयोजित कर सरकार द्वारा कराए गए विकास कार्यो की लोगों को जानकारी दी जाएगी।

छात्र जद (यू) 'चलो नीतीश के साथ चलें' अभियान को अंतिम रूप देने में जुट गया है। छात्र जदयू के प्रभारी रणवीर नंदन ने बताया कि दल का यह अभियान तीन माह तक चलेगा। इसके माध्यम से विश्वविद्यालयों के करीब 5 लाख युवाओं को दल से जोड़ने की तैयारी है।

इसे भी पढ़ें :

अब बिहार चुनाव में चलेगा ‘लालू चालीसा’, रांची में राजद के नेताओं ने किया आगाज

बिहार में ‘पोस्टर वार’ जारी, ‘करप्शन मेल’ के जरिए लालू यादव को बताया स्वार्थी

उल्लेखनीय है कि इसी 20 फरवरी को जद (यू) से निष्कासित किए गए प्रशांत किशोर ने 'बात बिहार की' की शुरुआत की है। इस अभियान की सफलता को देखते हुए जद (यू) भी अपने इस अभियान को सफल होने का दावा कर रही है।

नंदन ने कहा, "मुख्यमंत्री के 15 वर्षो के कार्यो पर सवाल खड़ा करने वालों को उनके द्वारा किए गए कार्यो को भी देखना चाहिए। ऐसे लोगों को 15 साल पहले का बिहार याद करना चाहिए।"

उल्लेखनीय है कि चुनावी वर्ष में जद (यू) एक मार्च को गांधी मैदान में कार्यकर्ता सम्मेलन करने जा रहा है।

Advertisement
Back to Top