पीएम मोदी की CAA और अनुच्छेद-370 पर दो टूक, तमाम दबाव के बावजूद फैसले पर कायम हैं और रहेंगे

पीएम नरेंद्र मोदी  - Sakshi Samachar

वाराणसी : गरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ लगातार प्रदर्शनों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को यहां साफ कर दिया कि तमाम दबावों के बावजूद उनकी सरकार इन फैसलों पर कायम है और रहेंगी।

पं. दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा का आनावरण करने के बाद अयोजित जनसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, "चाहे अनुच्छेद 370 पर फैसला हो या फिर नागरिकता संशोधन कानून पर फैसला हो, यह देश हित में जरूरी था। दबाव के बावजूद हम अपने फैसले के साथ खड़े हैं और इसके साथ बने रहेंगे। 70 सालों से पीछे छूटे फैसलों पर अब देश निर्णय ले रहा है। आजादी के बाद कालखंड में सुलझाने के बजाए उलझाने की राजनीति की गई।"

उन्होंने कहा, "अब यहां जो ये स्मृति स्थल बना है, उद्यान बना है, उनकी भव्य प्रतिमा स्थापित की गई है, इससे आने वाली पीढ़ियों को भी दीनदयाल जी के आचार और विचार से प्रेरणा मिलती रहेगी। दीनदयाल उपाध्याय जी ने हमें अंत्योदय का मार्ग दिखाया था, यानी जो समाज की आखिरी पंक्ति में हैं, उनका उदय। 21वीं सदी का भारत, इसी विचार से प्रेरणा लेते हुए अंत्योदय के लिए काम कर रहा है।"

प्रधानमंत्री ने कहा, "अंतिम पायदान के व्यक्ति को पहली पंक्ति में खड़ा करने का प्रयास जारी है। बनारस जैसे छोटे शहर ही देश को नई ऊंचाई देंगे। काशी में बाबा विश्वनाथ धाम और अयोध्या में श्रीराम धाम के भव्य दरबार का मार्ग प्रशस्त है। इससे पहले मोदी ने भोजपुरी में शिवरात्रि, रंगभरी एकादशी और होली की शुभकामनाएं दी।"

मोदी ने चंदौली के पड़ाव स्थित पं. दीनदयाल उपाध्याय स्मृति उपवन पर वाराणसी की 1200 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। तीन ज्योतिर्लिग को जोड़ने वाली महाकाल एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

उन्होंने कहा, "काशी में बाबा के दर्शन के बाद, उज्जैन में महाकाल के दर्शन कर पाएंगे। इसी ट्रेन से आगे बढ़कर इंदौर में ओंकारेश्वर में श्रद्धासुमन अर्पित कर पाएंगे। बीएचयू में आज जिस सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल का लोकार्पण हुआ है, उसका शिलान्यास 2016 के आखिरी में मैंने ही किया था। सिर्फ 21 महीनों में 430 बेड का यह अस्पताल बनकर काशी और पूर्वांचल के लोगों की सेवा के लिए तैयार हुआ है।"

इसे भी पढ़ें :

पीएम मोदी ने पं. दीनदयाल की प्रतिमा का किया लोकार्पण, महाकाल एक्सप्रेस को दिखाई हरी झंडी

पीएम मोदी बोले- संस्कृति और संस्कार से तय होगी नए भारत की दिशा

इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने बनारस और भदोही की कारपेट, सिल्क साड़ी, चंदौली का काला चावल, लकड़ी के खिलौने, फिरोजाबाद का कांच, आगरा के जूते, लखनऊ के चिकन कारीगरी, गुलाबी मीनाकारी, आजमगढ़ की ब्लैक पॉटरी, कन्नौज का इत्र, मुरादाबाद की धातु आदि कुल 26 जीआई उत्पाद का अवलोकन किया। साथ में राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह, राज्यमंत्री उदयभान सिंह, कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर भी मौजूद रहे।

Advertisement
Back to Top