तमाम सर्वे गलत साबित करना चाह रही भाजपा, इस चाल से दिल्ली में चित्त होंगे केजरीवाल !

पीएम नरेंद्र मोदी एवं भाजपा अध्यक्ष अमित शाह (फाइल फोटो) - Sakshi Samachar

नई दिल्ली : दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 की घोषणा हो चुकी है। तमाम सर्वे इस बात का दावा कर रहे हैं कि दिल्ली में एक बार फिर अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी की सरकार बनेगी, जबकि भाजपा सत्ता से काफी पीछे रहेगी। इसके बावजूद भाजपा अपनी रणनीति तैयार कर रही है।

चुनाव की घोषणा के साथ ही अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अगर हमने काम नहीं किया तो जनता हमें वोट न दे। वास्तविकता यह है कि मेडिकल से लेकर शिक्षा, बिजली, पानी समेत अन्‍य सुविधाएं जनता को निशुल्‍क देकर सीएम केजरीवाल ने बड़ा दांव चला है। जनता भी मुख्यमंत्री के इस फैसले से खुश है। भाजपा के लिए केजरीवाल के इन तमाम दांव को तोड़ ढूंढना बेहद जरूरी है।

अरविंद केजरीवाल (फाइल फोटो)

आप विधायकों पर भाजपा का वार

दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की लोकप्रियता जरूर है, लेकिन आम जनता के बीच उनके विधायकों की छवि बहुत अच्छी नहीं बन पाई है। जनता आप के विधायकों से नाराज हैं। भाजपा अब इस बात को अपना हथियार बनाकर इस्तेमाल करना चाहती है। इसका खुलासा भाजपा द्वारा कराए गए एक सर्वे में हुआ है। अब भाजपा इसे ध्यान में रख‍कर अपनी चुनावी रणनीति तैयार कर चुकी हैं।

यह भी पढ़ें :

दिल्ली विधानसभा चुनाव का ऐलान, 8 फरवरी को वोटिंग, 11 को आएंगे नतीजे

झारखंड में झटके के बाद दिल्ली में मनोज तिवारी को किनारे करने के मूड में अमित शाह, इस नेता पर नजर..!

भाजपा नेता मनोज तिवारी (फाइल फोटो)

आप विधायकों के वादों का सच करेगी उजागर

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी की अध्यक्षता में चुनाव प्रबंधन समिति का गठन किया गया है। जिसमें अनुभवी नेताओं के साथ युवाओं को मौका दिया गया है। यह समिति सभी आप विधायकों के वादों की पड़ताल करेगी और उसे आम जनता के सामने रखेगी। यही नहीं क्षेत्र के विकास के लिए एक रोडमैप तैयार कर जनता के सामने रखा जाएगा।

Advertisement
Back to Top