मुंबई : महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार के मंत्री अब्दुल सत्तार ने शनिवार को इस्तीफा दे दिया है। अब्दुल सत्तार ने 30 दिसंबर को हुए कैबिनेट विस्तार में मंत्री पद की शपथ ली थी, लेकिन कैबिनेट में जगह नहीं मिलने से वह नाराज थे।

शिवसेना-राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी-कांग्रेस गठबंधन के लिए यह एक बड़ा नुकसान है। बता दें अब्दुल सत्तार पहले कांग्रेस में थे और विधानसभा चुनाव से पहले ही शिवसेना में शामिल हुए थे।

30 दिसंबर को शपथ ग्रहण समारोह में अब्दुल सत्तार राज्य मंत्री के तौर पर शामिल किए गए थे। हालांकि वह कैबिनेट में शामिल होना चाहते थे। कैबिनेट में जगह नहीं मिलने से नाराज सत्तार ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया, हालांकि वह विधायक के तौर पर गठबंधन से जुड़े रहेंगे।

विभाग बंटवारा बना रोड़ा

महाराष्ट्र में विभागों के बंटवारे को लेकर जारी अनिश्चितता के बीच कांग्रेस नेता विजय वडेट्टीवार ने कहा कि उनकी पार्टी ग्रामीण क्षेत्रों से संबंधित मंत्रालय चाहती है। हालांकि उन्होंने विभागों के आवंटन को लेकर शिवसेना, कांग्रेस और राकांपा के बीच मतभेद की खबरों को खारिज कर दिया।

वडेट्टीवार ने कहा कि कांग्रेस नेताओं ने बृहस्पतिवार को यहां बैठक कर इस बात पर चर्चा की कि पार्टी की ओर से जिला संरक्षक मंत्री कौन बनेगा। उन्होंने कहा कि पार्टी दो और मंत्रालय चाहती है और बैठक में इस मुद्दे पर भी चर्चा हुई।