कानपुर : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को उत्तर प्रदेश के कानपुर में नमामि गंगे परियोजना पर मंथन करने के लिए पहुंचे थे। बैठक के बाद मोदी ने अटल घाट पहुंचकर ‘मां गंगा' को नमन किया। इस दौरान वह घाट पर जाते वक्त फिसल गए और लड़खड़ा गए। उनके साथ चल रहे एसपीजी के जवान ने तुरंत उन्हें संभालते हुए पकड़ लिया।

आपको बता दें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को नमामि गंगे परियोजना पर मंथन किया। उन्होंने राष्ट्रीय गंगा नदी पुनर्जीवन, सुरक्षा एवं प्रबंधन परिषद (राष्ट्रीय गंगा परिषद) की बैठक की अध्यक्षता की। करीब दो घंटे चली बैठक में नमामि गंगे के अगले चरण और नई कार्य योजना को लेकर विमर्श के साथ ही कई महत्वपूर्ण निर्णय लिये गए।

बैठक के बाद मोदी ने अटल घाट पहुंचकर ‘मां गंगा' को नमन किया। इसके बाद उन्होंने स्टीमर के जरिए गंगा की सफाई का निरीक्षण किया। परिषद की बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने भी हिस्सा लिया। इस दौरान केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी भी मौजूद रहे।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विशेष विमान से शनिवार सुबह कानपुर के चकेरी हवाईअड्डे पर उतरे। जहां पर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ उनके मंत्रिमंडल के सहयोगियों तथा केंद्रीय मंत्रियों ने उनका स्वागत किया।

यह भी पढ़ें :

गिरिराज सिंह का राहुल पर तंज, देशभक्त के लिए शुद्ध हिन्दुस्तानी रक्त चाहिए

सोनिया बोलीं- मोदी-शाह एक एजेंडा- लोगों को लड़वाओ और असली मुद्दों को छिपाओ

नमामि गंगे के अभियान में लगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कानपुर में गंगा नदी को अविरल और निर्मल करने के प्रयासों को अपनी कसौटी पर परखने का साथ ही कानपुर शहर में 'नमामी गंगे' की परियोजनाओं का हाल और गंगा नदी में गिर रहे नालों का भी जायजा लिया।