लखनऊ : उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की मौत के विरोध में शनिवार को कांग्रेस पार्टी ने यहां भाजपा मुख्यालय के सामने विरोध-प्रदर्शन किया। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने जमकर हंगामा किया।

पुलिस के रोकने पर कार्यकर्ता गेट के सामने बैठ गए और उन्होंने नारेबाजी शुरू कर दी। इस दौरान पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया, जिसके बाद काफी अफरा-तफरी मच गई। पुलिस ने वहां मौजूद कार्यकर्ताओं को जबरन हटाया।

पुलिस के हटाने के बाद कार्यकर्ता विधानसभा के सामने पहुंच गए और वे वही सड़क पर बैठ गए। प्रदर्शन के दौरान कार्यकर्ताओं ने प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। कार्यकर्ताओं ने भाजपा सरकार पर बिगड़ती कानून-व्यवस्था व बेटियों के साथ हो रहे अत्याचार को रोक न पाने का आरोप लगाया। प्रदर्शन में महिला कार्यकर्ता भी शामिल हुईं।

गौरतलब है कि गुरुवार को जिंदा जलाए जाने के बाद दुष्कर्म पीड़िता को गंभीर हालत में दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया था। वह 90 प्रतिशत तक जल चुकी थी। सफदरजंग अस्पताल के बर्न एवं प्लास्टिक सर्जरी विभाग के प्रमुख डॉ. शलभ कुमार ने बताया कि पूरे प्रयासों के बावजूद पीड़िता को बचाया नहीं जा सका।

इसे भी पढ़ें :

उन्नाव में पीड़िता के परिजन से मिलीं प्रियंका गांधी, कहा- इस घटना में हम सब दोषी

उन्नाव केस : धरने पर बैठे अखिलेश यादव, कहा- बेटी को न्याय नहीं दे पाए

उन्होंने कहा, "शाम में उसकी (पीड़िता) हालत खराब होने लगी। रात 11 बजकर 10 मिनट पर उसे दिल का दौरा पड़ा। हमने बचाने की कोशिश की, लेकिन रात 11 बजकर 40 मिनट पर उसकी मौत हो गई।"