अर्थव्यवस्था को लेकर मोदी सरकार पर चिदंबरम का हमला, पूछा-ये कैसे अच्छे दिन

पी चिदंबरम - Sakshi Samachar

नई दिल्ली : जेल से रिहा होने के बाद पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान चिदंबरम ने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने अर्थव्यवस्था पर असाधारण चुप्पी साध रखी है, इसे झांसा देने और शेखी बघारने के लिए मंत्रियों के भरोसे छोड़ दिया है।

सरकार को अर्थव्यवस्था का कोई ओर-छोर नहीं मिल रहा, वह नोटबंदी और दोषपूर्ण जीएसटी जैसी विनाशकारी गलतियों का बचाव बहुत ही अड़ियल और जिद्दी तरीके से कर रही है।

प्याज की बढ़ती कीमतों को लेकर चिदंबरम ने कहा कि देश में प्याज की कीमतें 100 रुपये से ज्यादा हैं लेकिन वित्त मंत्री को महंगे प्याज की परवाह नहीं है। वह कहती हैं कि मैं प्याज नहीं खाती।

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम गुरूवार को राज्यसभा की कार्यवाही में भाग लिया। चिदंबरम सुबह बैठक शुरू होने पर सदन में आए और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने उनसे हाथ मिलाते हुए उन्हें गले लगाया। कांग्रेस के अन्य नेताओं ने भी उनसे हाथ मिलाया। अगली सीट पर बैठे चिदंबरम पास बैठे ए के एंटनी और आनंद शर्मा से बातचीत करते देखे गए।

चिदंबरम को एक दिन पहले ही उच्चतम न्यायालय से जमानत मिली थी। वह तिहाड़ जेल में बंद थे। उच्चतम न्यायालय से जमानत मिलने के बाद बुधवार रात कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की और कहा कि वह जेल से बाहर निकलकर खुश हैं।

चिदंबरम बुधवार शाम ही तिहाड़ जेल से बाहर आए। जेल से बाहर आने के बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया और उनके समर्थन में नारेबाजी की। सूत्रों के मुताबिक चिदंबरम के सोनिया से मिलने के दौरान उनके पुत्र कार्ति चिदंबरम भी साथ थे।

सोनिया से मुलाकात के बाद चिदंबरम ने संवाददाताओं से कहा, ''मैं खुश हूं कि उच्चतम न्यायालय ने मुझे जमानत देने का आदेश दिया। मुझे खुशी है कि मैं 106 दिनों के बाद बाहर आ गया और खुली हवा में सांस ले रहा हूं।"

जेल से बाहर आने के बाद चिदंबरम बृहस्पतिवार को कांग्रेस मुख्यालय में पहली बार संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करेंगे ।

गौरतलब है कि सर्वोच्च न्यायालय की न्यायमूर्ति आर. भानुमति की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय पीठ ने बुधवार को 74 वर्षीय पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री को जमानत दी। सीबीआई ने 21 अगस्त को आईएनएक्स मीडिया धनशोधन मामले में उन्हें गिरफ्तार किया था। प्रवर्तन निदेशालय ने धनशोधन मामले में 16 अक्टूबर को उन्हें गिरफ्तार किया था।

Advertisement
Back to Top