नागरिकता संशोधन बिल को कैबिनेट की मंजूरी, अब संसद में पेश करने की तैयारी

पीएम मोदी एवं अन्य कैबिनेट मंत्री (फाइल फोटो) - Sakshi Samachar

नई दिल्ली : नागरिकता संशोधन विधेयक को कैबिनेट ने हरी झंडी दे दी है। बुधवार की सुबह हुई कैबिनेट बैठक में इस बिल पर मुहर लगा दी गई है। अब नागरिकता संशोधन विधेयक को संसद में पेश करने की तैयारी है।

भाजपा ने विधेयक के पेश होने की संभावना को देखते हुए सदन में सभी सांसदों को मौजूद रहने के निर्देश दिए हैं।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भाजपा सांसदों से कहा कि जब गृह मंत्री संसद में मसौदा विधेयक को पेश करें तब वे बड़ी संख्या में मौजूद रहें। भाजपा संसदीय दल की मंगलवार को हुई बैठक के दौरान संसद में पार्टी सांसदों के अनुपस्थित रहने का विषय भी उठा।

वरिष्ठ नेता एवं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सांसदों को संसद में विधेयकों पर चर्चा एवं पारित होने के समय उनकी कम उपस्थिति पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की नाखुशी से अवगत कराया।

नागरिकता संशोधन विधेयक बेहद महत्वपूर्ण

सूत्रों ने बताया कि राजनाथ सिंह ने पार्टी सांसदों से कहा कि जब गृह मंत्री अमित शाह नागरिकता संशोधन विधेयक पेश करें तब वे बड़ी संख्या में उपस्थित रहें। उन्होंने कहा कि यह मसौदा विधेयक उतना ही महत्वपूर्ण है जितना अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को खत्म करने वाला विधेयक था।

विपक्ष की आलोचनाओं को किया खारिज

राजनाथ सिंह ने नागरिकता संशोधन विधेयक पर विपक्ष की आलोचनाओं को खारिज किया और कहा कि भाजपा हमेशा देश और लोगों को एकजुट करने के लिये काम करती है। गौरतलब है कि मसौदा विधेयक में पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से आए ऐसे गैर मुस्लिमों को नागरिकता प्रदान करने की बात कही गई है जो वहां उत्पीड़न का शिकार होते हैं।

यह भी पढ़ें :

नागरिकता रद्द मामला : TRS विधायक पहुंचा हाईकोर्ट, लगाई यह गुहार

ओवैसी बोले- बिल के माध्यम से गैर-मुस्लिमों को दे सकती है नागरिकता

सूत्रों ने बताया कि राजनाथ सिंह ने पार्टी सांसदों से आने वाले दिनों में महत्वपूर्ण विधेयक पेश किये जाने के दौरान संसद में उपस्थिति सुनिश्चित करने को कहा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने बार-बार सांसदों के सदन में अनुपस्थित रहने के विषय पर अपनी बात कही है, लेकिन यह विषय अब भी बना हुआ है।

Advertisement
Back to Top