मुंबई : राकांपा नेता अजित पवार ने कहा कि वह आज यानी बृहस्पतिवार को महाराष्ट्र के मंत्री के तौर पर शपथ नहीं लेंगे। अजित पवार ने यहां पार्टी प्रमुख शरद पवार के आवास पर राकांपा नेताओं की बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा, “मैं आज शपथ नहीं लूंगा। राकांपा से केवल छगन भुजबल और जयंत पाटिल मंत्री पद की शपथ लेंगे।”

उन्होंने कहा कि शिवसेना और कांग्रेस से भी दो-दो विधायक मंत्री पद की शपथ लेंगे। शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे यहां स्थित शिवाजी पार्क में शाम को आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे

राकांपा से केवल छगन भुजबल और जयंत पाटिल मंत्री पद की शपथ लेंगे।” उन्होंने कहा कि शिवसेना और कांग्रेस से भी दो-दो विधायक मंत्री पद की शपथ लेंगे। अजित ने इन खबरों को खारिज कर दिया कि वह बृहस्पतिवार को उपमुख्यमंत्री पद की शपथ नहीं दिलाये जाने के चलते निराश हैं।

अशोक चव्हाण नहीं लेंगे शपथ...

कांग्रेस की ओर से जो दो मंत्री शपथ लेने वाले हैं, उनमें अहम बदलाव हुआ है। पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण अब मंत्री पद की शपथ नहीं लेंगे, बल्कि उनकी जगह नितिन राउत शपथ लेंगे। बता दें कि वह दलित नेता हैं और पूर्व में मंत्री भी रह चुके हैं। कांग्रेस की ओर से अब बालासाहेब थोराट, नितिन राउत शपथ लेंगे। बुधवार को ही प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने आदर्श सोसायटी घोटाले की जांच शुरू कर दी थी। बुधवार को कोलाबा के आदर्श सोसायटी में ईडी की टीम पहुंची थी और जांच शुरू की थी।

उन्होंने कहा, ‘‘मैं कहीं से भी निराश नहीं हूं। क्या आप मेरे चेहरे पर निराशा देख रहे हैं?'' महाराष्ट्र के पूर्व उप मुख्यमंत्री ने अपनी ‘‘बगावत'' की खबरों का भी खंडन किया। अजित ने पिछले हफ्ते भाजपा से हाथ मिला लिया था और शनिवार सुबह राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने उन्हें उपमुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई थी। हालांकि, बाद में उन्होंने व्यक्तिगत कारणों का हवाला देते हुए इस पद से इस्तीफा दे दिया।

इसे भी पढ़ें

बीजेपी के साथ आते ही अजित पवार को मिली क्लीनचिट, 9 मामलों में बंद हुई जांच

शरद पवार बोले- अजित पर होगी कार्रवाई, व्हिप नहीं मानने वालों को भी बख्शेंगे नहीं,

उनके इसके कदम के परिणामस्वरूप राज्य में नवगठित देवेंद्र फडणवीस नीत (भाजपा)सरकार गिर गई। उन्होंने कहा, ‘‘यह कोई बगावत नहीं थी। मैं राकांपा में था, राकापां में हूं और राकांपा में रहूंगा।'' उन्होंने कहा कि वह शाम में अपनी चचेरी बहन एवं लोकसभा सदस्य सुप्रिया सुले के साथ शपथ ग्रहण समारोह में शरीक होंगे। शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस ने राज्य में सरकार गठन के लिये महा विकास आघाडी नाम से मोर्चा बनाया है।