Inside Story : 10 घंटे में ऐसे बनी सरकार, 3 घंटे में खत्म हुआ 30 दिन का सियासी ड्रामा

हाथ मिलाते हुए अजित पवार और देवेंद्र फडणवीस - Sakshi Samachar

मुंबई : महाराष्ट्र में शनिवार सुबह सबको चौंकाते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के देवेंद्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के अजीत पवार ने उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ ले ली। सत्ता की होड़ से बाहर चल रही भाजपा एक बार फिर सरकार बनाने में कामयाब हुई। तीनों पार्टियों के नेताओं की लगातार बैठक हो रही थी। लेकिन अचानक से 10 घंटे में पूरा घटनाक्रम बदल गया।

महाराष्ट्र में घटे घटनाक्रम कुछ इस प्रकार है :

- शुक्रवार रात लगभग 11.45 बजे अजीत पवार-भाजपा में सौदा हुआ।

- लगभग 11.55 बजे फडणवीस ने पार्टी से बात की और शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस के दावा करने से पहले शपथ ग्रहण करने का आग्रह किया।

- रात 12.30 बजे मुंबई से दिल्ली जाने के लिए तैयार राज्यपाल ने अपनी यात्रा रद्द की।

- रात 2.10 बजे राज्यपाल के सचिव को कहा गया कि तड़के 5.47 बजे राष्ट्रपति शासन हटाने का आदेश दाखिल करे और 6.30 बजे शपथ ग्रहण कराने का प्रबंध करें।

- रात 2.30 बजे सचिव ने सूचित किया कि वह दो घंटों में फाइल दाखिल कर देंगे और 7.30 बजे शपथ ग्रहण करने की उन्होंने सलाह दी।

- शुक्रवार रात 11.45 बजे से शनिवार सुबह नौ बजे तक अजीत फडणवीस के साथ रुके और शपथ ग्रहण से पहले उन्हें नहीं जाना था।

इसे भी पढ़ें

महाराष्ट्र में नयी सरकार : किसने किसको क्या कहा...!

महाराष्ट्र में बड़ा सियासी उलटफेर, फडणवीस फिर बने CM, अजित पवार डिप्टी सीएम

- सुबह 5.30 बजे अजीत और फडणवीस राजभवन पहुंचे।

- सुबह 5.47 बजे राष्ट्रपति शासन हटाया गया, लेकिन इसकी घोषणा नौ बजे की गई।

- सुबह 7.50 बजे राज्यपाल बी.एस. कोश्यारी ने शपथ ग्रहण शुरू कराया।

- सुबह 8.10 बजे प्रतिक्रियाएं आनी शुरू।

- सुबह 8.40 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नए मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री को बधाई दी।

Advertisement
Back to Top