नई दिल्ली : केजरीवाल सरकार में समाज कल्याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने शुक्रवार को भगवान राम और कृष्ण की प्रामाणिकता पर सवाल उठाते हुए विवादित ट्वीट किया तो हंगामा खड़ा हो गया। ट्वीट करने के थोड़ी ही देर में 'हैशटैग एंटी हिंदू आप' ट्रेंड करने लगा। भाजपा नेताओं ने आम आदमी पार्टी (आप) से हिंदू विरोधी ट्वीट के लिए माफी मांगने की मांग की। चुनावी सीजन में मंत्री के इस विवादास्पद ट्वीट के बाद आप पर चौतरफा हमले हुए तो बाद में मंत्री ने ट्वीट डिलीट कर अकाउंट हैक हो जाने की बात कही।

दिल्ली की आप सरकार में कैबिनेट मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने ट्वीट में लिखा, "अगर यह बात प्रमाणित है कि राम और कृष्ण तुम्हारे पूर्वज हैं तो फिर उनको इतिहास में क्यों नहीं पढ़ाया जाता। पूर्वजों का कोई इतिहास होता है, जबकि इनका कोई प्रामाणिक इतिहास नहीं है। यह पौराणिक कथाएं हैं। ऐतिहासिक नहीं। जबकि पेरियार जी का ²ष्टिकोण प्रामाणिकता और तार्किकता पर आधारित था।"

इस पर भाजपा के नॉर्थ-वेस्ट दिल्ली सीट से सांसद हंसराज हंस ने कहा, "केजरीवाल ने सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत मांगा था। देश ने जवाब दिया, दिल्ली ने सातों सीटों पर भाजपा को जीताकर जवाब दिया। अब उनकी पार्टी भगवान राम और कृष्ण का सबूत मांग रही है। अब फिर दिल्ली की जनता जवाब देगी।"

आपा के संस्थापक सदस्य रहे कवि कुमार विश्वास ने भी मंत्री के ट्वीट पर जमकर भड़ास निकाली। उन्होंने फेसबुक पर लिखा, "सीमापुरी के ये विधायक आत्ममुग्ध.. के प्रिय मंत्री हैं! राम और कृष्ण के होने का देश से सबूत मांग रहे हैं! इनका कहना है कि राम और कृष्ण चूंकि इतिहास में नहीं पढ़ाए जाते, इसलिए उनका अस्तित्व ही नहीं है! लगता है सत्ता की गर्मी दिमाग पर कुछ ज्यादा ही चढ़ गई है। खैर तुम्हारे आका ने हमारे लाख समझाने के बाद भी सेना से उसके शौर्य के सबूत मांगे थे, तो लोकसभा चुनाव में लोगों ने भरपूर दे भी दिए थे, अब तुमने राम और कृष्ण के होने के सबूत मांगे हैं, तो बस थोड़ी प्रतीक्षा करो विधानसभा-चुनाव में तुम्हें भी मिल जाएंगे।"

भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने ट्वीट किया, "या तो केजरीवाल के मंत्री राजेन्द्र पाल गौतम सार्वजनिक रूप से भगवान 'राम और कृष्ण' विरोधी ट्वीट के लिए माफी मांगें, या मीडिया में आकर बताएं 'राम और कृष्ण' के अस्तित्व के प्रति उनके विचार क्या हैं। अन्यथा उनके खिलाफ आपराधिक केस भी होगा और सार्वजनिक विरोध भी।"

कपिल मिश्रा ने एक और ट्वीट में कहा, "मेरे ट्वीट और केजरीवाल को ललकारने के बाद केजरीवाल के मंत्री ने अपने 'राम कृष्ण' विरोधी ट्वीट को डिलीट कर दिया है। आम आदमी पार्टी वोट लेने के लिए हिन्दू विरोधी राजनीति कर रही है। 'राम और कृष्ण' विरोधी बयान के लिए केजरीवाल और उनके मंत्री को माफी मांगनी ही पड़ेगी।"