मुख्यमंत्री रघुबर दास को हराने के लिए बागी मंत्री सरयू राय ने किया नामांकन, बोले.....

डिजाइन फोटो - Sakshi Samachar

रांची : झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बागी नेता सरयू राय ने सोमवार को जमशेदपुर पूर्व से एक-दूसरे के खिलाफ नामांकन पत्र दाखिल किया।

रघुबर दास ने पहले पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की और बाद में अपना नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए पूर्व सिंहभूम जिला प्रशासन कार्यालय पहुंचे। रघुबर दास बैठक स्थल से ही पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ नामांकन दाखिल करने के लिए जिला प्रशासन कार्यालय चले गए।

नामांकन करते मुख्यमंत्री रघुबर दास

सरयू राय रविवार तक रघुबर दास मंत्रिमंडल में खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री थे। रविवार को सरयू राय ने मुख्यमंत्री के खिलाफ विधानसभा चुनाव लड़ने की घोषणा की। उन्होंने विधानसभा की सदस्यता से रविवार को इस्तीफा दे दिया।

सरयू राय सोमवार को अपने कुछ समर्थकों के साथ अपना नामांकन दाखिल करने जिला प्रशासन कार्यालय पहुंचे। राय ने नामांकन पत्र दाखिल करने से पहले कहा, "यह भय व भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई है।"

नामांकन करते बागी मंत्री सरयू राय

राय के अपने मुख्यमंत्री के खिलाफ लड़ने का फैसला करने के बाद जमशेदपुर पूर्व सीट आकर्षण का केंद्र बन गई है। वह निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर लड़ रहे हैं, लेकिन उन्होंने पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा नहीं दिया है।

इसे भी पढ़ें

झारखंड चुनाव : भाजपा ने 52 उम्मीदवारों की सूची की जारी, कई विधायकों के कटे टिकट

झारखंड : चुनाव से पहले ही टूट गया BJP-AJSU का गठंबधन, सुदेश बोले- 26 सीट पर है हमारी तैयारी

सरयू राय ने शनिवार को पार्टी द्वारा उनका टिकट रोके जाने को लेकर नाखुशी जताई। राय ने शनिवार शाम जमशेदपुर में एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा, "मैं खाली कटोरा लिए टिकट मांग रहा हूं।"

भाजपा ने शनिवार को पार्टी उम्मीदवारों की चौथी सूची जारी की।

सरयू राय जमशेदपुर पश्चिम सीट से विधायक हैं और वह अपनी सरकार का कई मुद्दों पर आलोचना करते रहे हैं। रघुबर के साथ उनके संबंध बीते पांच सालों में अच्छे नहीं रहे हैं।

Advertisement
Back to Top