रांची : भारतीय जनता पार्टी ने गुरुवार को झारखंड विधानसभा चुनावों के लिए 15 उम्मीदवारों की अपनी तीसरी सूची जारी की। इसे मिलाकर अब तक पार्टी ने 81 विधानसभा सीटों में 68 सीटों के लिए अपने उम्मीदवारों के नाम तय कर दिये हैं, लेकिन आज भी वरिष्ठ नेता सरयू राय का नाम इस सूची में नदारद रहा।

राय का नाम अभी तक नहीं घोषित किए जाने पर माना जा रहा है कि अपनी ही सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाने वाले राय को किनारे करने की कोशिश जोरों पर हैं। भाजपा ने इससे पूर्व पिछले सप्ताह 52 उम्मीदवारों की अपनी पहली सूची जारी की थी और 12 तारीख की देर रात सुखदेव भगत के नाम वाली दूसरी सूची जारी की।

भाजपा को अब सिर्फ 13 सीटों के लिए अपने उम्मीदवारों के नाम तय करने हैं। यदि उसका अपने पुराने सहयोगी आज्सू से सीटों को लेकर कोई समझौता होता है तो उसे कम से कम नौ से 12 सीटें उसके लिए छोड़नी होंगी, लेकिन वर्तमान में आज्सू से उसका गठबंधन टूटता नजर आ रहा है क्योंकि दोनों पार्टियां अपने-अपने रुख पर अड़ी हुई हैं।

इसे भी पढ़ें :

ओवैसी की झारखंड में बड़ी चुनावी विसात बिछाने की तैयारी, यह है रणनीति

झारखंड की इन सीटों पर ओवैसी की नजर, बिगड़ सकता है JMM-कांग्रेस गठबंधन का समीकरण

भाजपा के वरिष्ठ नेता ओम माथुर ने गुरुवार को कहा कि भाजपा ने आज्सू के लिए नौ सीटें छोड़ रखी हैं और अब उन्हें तय करना है कि वह इस समझौते के लिए तैयार हैं या नहीं? इससे पहले वर्ष 2014 के विधानसभा चुनावों में भाजपा ने आज्सू को आठ सीटें दी थीं, जिसमें से उसने पांच सीटें जीती थीं।

भाजपा की आज जारी सूची में पोड़ैयाहाट से गजाधर सिंह, बरकट्ठा से जानकी यादव, धनवार से लक्ष्मी प्रसाद सिंह, गांडेय से जयप्रकाश वर्मा, बोकारो से विरंचीनारायण, चंदनक्यारी से अमर कुमार बाउरी, निरसा से श्रीमती अपर्णासेन गुप्ता, सराइकेला से गणेश महली, चाईबासा से जेबी तुबिद, मझगांव से भूषणपथ पिंगला, खरसांवा से जवाहर वनरा, खूंटी से नीलकंठ सिंह मुंडा, मांडर से श्रीदेव कुमार धान, सिसई से दिनेश उरांव और कोलेबीरा से सुजान मुंडा के नाम शामिल हैं।