महाराष्ट्र में गतिरोध खत्म होने के आसार, इस फार्मूले पर बन सकती है सरकार  

अपने बेटे व विधायक आदित्य ठाकरे के साथ उद्धव ठाकरे - Sakshi Samachar

मुंबई : महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर अभी भी गतिरोध बना हुआ है। शरद पवार की एनसीपी और कांग्रेस पार्टी की साझा प्रेस कांफ्रेन्स के बाद शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि सरकार बनाने को लेकर कांग्रेस और एनसीपी के साथ शिवसेना बातचीत नहीं रोकेगी। इस बीच, राज्य में सरकार बनाने का नया फार्मूला भी लगभग सामने आ गया है।

सूत्रों की मानें तो ढाई-ढाई साल तक शिवसेना और एनसीपी के मुख्यमंत्री बने रहेंगे और उपमुख्यमंत्री का पद पूरे पांच साल के लिए कांग्रेस पार्टी के पास रहेगा। कांग्रेस और एनसीपी के साझा कांफ्रेन्स के बाद उद्धव ठाकरे ने कहा कि जम्मू कश्मीर में अगर भाजपा अपने वैचारिक विचारों व मतभेदों को दूर करके महबूबा मुफ्ती के साथ हाथ मिला सकती है तो मौजूदा राजनीतिक संकट में हमारा एनसीपी और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाने का रास्ता खोजने में क्या गलत है।

गठबंधन सरकार में आने वाली अड़चनों के बारे में पूछे गए एक सावल पर शिवसेना प्रमुख ने कहा कि भाजपा का जम्मू कश्मीर में पीडीपी और बिहार में नीतीश कुमार के साथ समझौते से जुड़ी जानकारी जुटाई जा रही है ताकि हम भी समझ सके कि आखिर भिन्न विचारधारा वाली पार्टियां एकसाथ कैसे रहती हैं।

इसे भी पढ़ें :

महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए एक बार फिर साथ आएंगे भाजपा-शिवसेना ! पढ़ें यह बयान

एक अन्य प्रश्न के उत्तर में उद्धव ठाकरे ने कहा कि गठबंधन के विकल्प शिवसेना ने नहीं बल्कि भाजपा ने खत्म किए हैं। गौरतलब है कि उद्धव ने मंगलवार को कहा था कि भारतीय जनता पार्टी भाजपा महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए विभिन्न माध्यमों से अभी भी हमसे संपर्क करते हुए हर बार अलग-अलग प्रस्ताव दे रही है। उन्होंने कहा कि शिवसेना ने अब एनसीपी और कांग्रेस पार्टी के साथ मिलकर सरकार बनाने का फैसला किया है।

Advertisement
Back to Top