मुंबई : महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए सोमवार की शाम शिवसेना के नेता राजभवन जाकर राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की। शिवसेना के नेताओं ने राज्य में स्थिर सरकार बनाने के लिए दो दिन का वक्त मांगा था, लेकिन राज्यपाल ने अधिक समय देने से इनकार कर दिया।

राज्यपाल से मुलाकात के बाद पत्रकारों से बात करते हुए शिवसेना के नेता आदित्य ठाकरे ने कहा कि हमने सरकार बनाने के लिए 48 घंटे का समय मांगा था, क्योंकि अन्य सहयोगी दलों से समर्थन की चिट्ठी मिलने में समय लगेगा। हालांकि इस बात से राज्यपाल ने इनकार कर दिया है।

आदित्य ठाकरे ने कहा कि हमारा दावा अभी खारिज नहीं हुआ है। हम अभी भी सरकार बनाना चाहते हैं और दूसरी पार्टियों से बातचीत जारी है। शिवसेना नेता ने कहा कि हम वापस राजभवन जाएंगे।

शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने सोमवार रात राज भवन के बाहर संवाददाताओं से कहा कि सरकार बनाने का उनकी पार्टी का दावा अब भी कायम है क्योंकि दोनों दल शिवसेना नीत सरकार का समर्थन करने के लिए सैद्धांतिक रूप से सहमत हो गये हैं। उन्होंने कांग्रेस और राकांपा का नाम नहीं लिया।

आदित्य ने दावा किया कि राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने शिवसेना को संख्याबल जुटाने के लिए और वक्त देने से मना कर दिया। उन्होंने कहा, ‘‘हमने दोनों दलों से बातचीत शुरू कर दी है। दोनों दलों ने शिवसेना को सैद्धांतिक रूप से समर्थन व्यक्त किया है।''

यह भी पढ़ें :

सरकार में शामिल शिवसेना के इकलौते मंत्री अरविंद सावंत ने दिया इस्तीफा

शिवसेना ने की राज्यपाल से मुलाकात, समर्थन से पहले कांग्रेस फिर करेगी NCP से बात मोदी

शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के पुत्र आदित्य ने कहा, ‘‘हमने सरकार बनाने के लिए दावा पेश करने की अपनी इच्छा के बारे में महाराष्ट्र के राज्यपाल को सूचित किया। शिवसेना विधायक पहले ही लिखित में अपना समर्थन जता चुके हैं।''

उन्होंने कहा कि दोनों दलों (राकांपा तथा कांग्रेस) को उनकी प्रक्रिया पूरी करने के लिए कुछ और दिन चाहिए। आदित्य ने कहा, ‘‘इसलिए हमने राज्यपाल से और वक्त मांगा था लेकिन उन्होंने देने से मना कर दिया।''