लखनऊ : बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने साल 1995 में हुए चर्चित गेस्ट हाउस कांड में समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव के खिलाफ अपना केस वापस लेने का फैसला लिया है।

बसपा (बहुजन समाज पार्टी) के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने इस बात की पुष्टि की कि पार्टी सुप्रीमो ने सुप्रीम कोर्ट में मामले को वापस लेने के लिए एक अर्जी दी थी, लेकिन उन्होंने इस बारे में और कोई विशेष जानकारी नहीं दीं।

सामजवादी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा, "मुझे इस बारे में अभी तक कुछ भी नहीं पता है, इसके बारे में जानने की कोशिश करूंगा और तब ही कुछ कह पाऊंगा।" बसपा के एक अन्य नेता ने कहा कि मामला अभी तक सुप्रीम कोर्ट में लंबित है।

यह भी पढ़ें :

अम्बेडकर जैसा कारनामा करने जा रहे हैं मायावती, यह है राजनीतिक सोच

विधायक ने खोला राज : इस जन्म में अब कभी CM नहीं बन पाएंगी मायावती

सूत्रों के मुताबिक, मायावती ने गुरुवार को पार्टी कार्यकर्ताओं की एक बैठक में कहा कि अखिलेश यादव ने लोकसभा चुनावों के मद्देनजर उनसे 24 साल पुराने इस मामले को वापस लेने के लिए अनुरोध किया था। गेस्ट हाउस कांड 2 जून, 1995 को हुआ था, जब उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा की गठबंधन वाली सरकार थी।

-आईएएनएस