चंडीगढ़ : सिख धर्म के प्रवर्तक गुरु नानक देव की 550वीं जयंती का उत्सव मनाने के लिए भारत से 2000 से अधिक सिख तीर्थयात्री पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में स्थित गुरुद्वारा ननकाना साहिब पहुंच चुके हैं। दूसरी तरफ करतारपुर गलियारे के उद्घाटन समारोह से पहले एक पोस्टर की वजह से नेता नवजोत सिंह सिद्धू विवादों में घिर गए हैं।

पंजाब में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू के तस्वीरों वाले पोस्टर जगह-जगह नजर आ रहे हैं। पोस्टर के बाद पंजाब की राजनीति एक बार फिर गर्मा गई है। भाजपा ने नवजोत सिंह सिद्धू को आईएसआई के हाथ में खेलने वाला शख्स बताया।

सिद्धू और इमरान की तस्वीरों वाले पोस्टर्स में दोनों को असली हीरो बताया गया है। हालांकि विवाद बढ़ने के बाद विवादित पोस्टरों को तत्काल हटा दिया गया है।

भाजपा प्रवक्ता राजेश हनी ने कहा कि अमृतसर में पाक प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ नवजोत सिंह सिद्धू के पोस्टर का लगना गलत है। सिद्धू देशद्रोही हैं और आईएसआई के हाथों खेलकर देश का माहौल खराब कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें :

करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन में सिद्धू को इमरान का आया खास बुलावा

करतारपुर साहिब गुरुद्वारा जाने के लिए आपके पास इन चीजों का होना है बेहद जरूरी

ननकाना साहिब में गुरु नानक देव की 550वीं जयंती समारोह में शामिल होने पाकिस्तान गए 1100 सिखों में से ज्यादातर ने गुरुद्वारा दरबार साहिब करतारपुर की यात्रा की, जिसे करतारपुर साहिब के नाम से जाना जाता है।

गुरु नानक देव की 550वीं जयंती 12 नवंबर को है और इससे पहले नौ नवंबर को करतारपुर गरियारे का उद्घाटन किया जाएगा। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान इस गलियारे का उद्घाटन करेंगे। इसमें सिद्धू को भी शामिल होने का निमंत्रण मिला है।