नई दिल्ली : महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर चल रही रस्साकशी के बीच राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार ने शिवसेना के साथ हाथ मिलाने की संभावना को खारिज नहीं करते हुए सोमवार को कहा कि पता नहीं कि आगे क्या होगा।

शरद पवार ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद यह भी कहा कि कांग्रेस-राकांपा गठबधंन को विपक्ष में बैठने का जनादेश मिला है और सरकार बनाने की जिम्मेदारी भाजपा और उसके सहयोगी दलों की है।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि वह जल्द ही सोनिया से फिर मुलाकात करेंगे और उनसे राज्य के राजनीतिक हालात के बारे में चर्चा करेंगे। यह पूछे जाने पर कि क्या वह एक बार फिर से महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनने के लिए तैयार हैं तो उन्होंने कहा, ‘‘नहीं।''

यह भी पढ़ें :

महाराष्ट्र में दोबारा चुनाव चाहते हैं भाजपा नेता, गठबंधन से हुआ नुकसान

महाराष्ट्र गतिरोध: संजय राउत ने अजित पवार को फोन पर भेजा संदेश, पवार ने कहा- कॉल करूंगा

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ‘‘हमें विपक्ष में बैठने का जनादेश मिला है, लेकिन पता नहीं आगे क्या होगा।'' यह पूछे जाने पर कि क्या भाजपा एवं शिवसेना के बीच ‘बार्गेनिंग गेम' चल रहा है तो उन्होंने कहा कि यह ‘बार्गेनिंग गेम' नहीं, बल्कि ‘सीरियस गेम' है।