नई दिल्ली : महाराष्ट्र में नई सरकार के गठन में गतिरोध के बीच राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार यहां सोमवार को कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात कर सकते हैं। राकांपा नेता अजीत पवार ने यह बात मुंबई में कही।

संभावना है कि दोनों सहयोगी पार्टियों के शीर्ष नेता महाराष्ट्र के ताजा राजनीतिक हालात पर चर्चा करेंगे। वे राज्य में नई सरकार के गठन के लिए भाजपा से नाराज शिवसेना को समर्थन देने के बारे में कांग्रेस-राकांपा गठबंधन का रुख स्पष्ट कर सकते हैं। शिवसेना ने 175 विधायकों के समर्थन का दावा किया है।

शिवसेना ने अपने तेवर और कड़े करते हुए कहा कि ऐसे लोगों से साठगांठ करना चाहिए जो गठबंधन के दौरान किए गए वादे को निभा सके। शिवसेना सांसद संजय राउत दो दिन पहले एनसीपी प्रमुख शरद पवाल से भेंट कर चुके हैं। हालांकि उन्होंने इस मुलाकात को औपचारिक मुलाकात बताई है।

संजय राउत के एनसीपी प्रमुख से मिलने के बाद महाराष्ट्र की राजनीति में नए मोड़ आ गया है और इसी के तहत शरद पवार आज नई दिल्ली में अपने सहयोगी दल कांग्रेस के अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से आज दिल्ली में मुलाकात कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें :

फडणवीस सरकार मराठा समुदाय को शिक्षा और नौकरियों में देगी 16% आरक्षण, विधानसभा में बिल पास

पवार बोले- मैं अभी जवान हूं, भाजपा-शिवसेना का बोरिया-बिस्तर समेटकर करूंगा आराम

मोदी सरकार के खिलाफ विशाल रैली करेगी कांग्रेस, सोनिया, राहुल और प्रियंका करेंगी संबोधित

यह भी माना जा रहा है कि महाराष्ट्र में भाजपा और शिवसेना के बीच बढ़ती खटास का फायदा उठाने की कोशिश के तहत शरद पवार ने सोनिया गांधी से मुलाकात कर राज्य की ताजा राजनीतिक स्थिति पर चर्चा करने के अलावा शिवसेना को समर्थन देने पर विचार कर सकते हैं।

उधर, सत्तारूढ़ भाजपा अपने सबसे पुरानी सहयोगी शिवसेना को मनाने की उम्मीद पर है और इसके लिए वह वित्तमंत्री, गृहमंत्रालय जैसे बड़े पदों की पेशकश भी कर सकती है।