मुंबई : महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर जारी गतिरोध के बीच सियासी हलचल और तेज हो गई है। रविवार को नयी दिल्ली में राकांपा नेता शरद पवार की कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात से पहले शिवसेना राकांपा से संपर्क साधती प्रतीत हुई।

शिवसेना द्वारा गठबंधन सहयोगी भाजपा के अलावा अन्य विकल्प तलाशने की अटकलों को रविवार को उस समय बल मिला जब राकांपा के वरिष्ठ नेता अजित पवार ने पत्रकारों को शिवसेना सांसद संजय राउत का फोन पर आया संदेश दिखाया, जिसमें राउत की ओर से औपचारिक परिचय और अभिवादन दिया गया।

भाजपा और शिवसेना के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर खींचतान चल रही है, जिसके चलते सरकार गठन में देरी हो रही है। इससे ये कयास लगाए जा रहे हैं कि उद्धव ठाकरे नीत शिवसेना सरकार गठन के लिए राकांपा और कांग्रेस के साथ गठबंधन कर सकती है।

इसे भी पढ़ें

इशारों-इशारों में संजय राउत ने कसा BJP पर तंज, मत पालिए, अहंकार इतना साहिब...

तो क्या NCP के साथ सरकार बनाएगी शिवसेना, नई सरकार को लेकर MP ने कही ये बड़ी बात

राउत की ओर से पवार के भेजे गए संदेश में लिखा है, "नमस्कार, मैं संजय राउत। जय महाराष्ट्र।" पूर्व उपमुख्यमंत्री पवार ने संदेश के बारे में कहा, "इसका मतलब है कि मुझे उन्हें फोन करना चाहिए। मैं उन्हें कॉल करके देखूंगा।"

गौरतलब है कि शिवसेना और भाजपा के मध्य सत्ता संघर्ष के बीच राकांपा कहती रही है कि वह विपक्ष में बैठेगी। इससे पहले रविवार को राउत ने दावा किया कि शिवसेना "170 विधायकों" के समर्थन से जल्द ही मुख्यमंत्री बनाएगी।