हरियाणा में भाजपा को मिला ‘मैजिक नंबर’, खट्टर करेंगे राज्यपाल से मुलाकात !

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (फाइल फोटो) - Sakshi Samachar

चंडीगढ़ : हरियाणा में सरकार बनाने का दावा पेश करने के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर आज राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य से मुलाकात करेंगे। सीएम खट्टर मुलाकात के दौरान अपना इस्तीफा भी सौपेंगे। बताया जा रहा है कि गोपाल कांडा समेत कई निर्दलीय विधायक भाजपा को समर्थन दे रहे हैं।

हरियाणा विधानसभा की 90 सीटों के लिए हुए चुनाव में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला है। भाजपा सबसे बड़ी पार्टी जरूर बनकर उभरी है, लेकिन बहुमत नहीं मिला है।

भाजपा ने 40 सीटों पर जीत हासिल की है, लेकिन दो को छोड़कर इसके सभी मंत्री हार गए हैं। इन दो में अनिल विज और राज्य पार्टी प्रमुख सुभाष बराला शामिल हैं।भाजपा की प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस ने 31 सीटों पर जीत हासिल की है, जबकि जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) ने 10 सीटों पर जीत हासिल की है। निर्दलीयों सहित नौ अन्य ने भी चुनावों में जीत हासिल की है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला सहित कई मंत्री चुनाव हार गए हैं। मुख्यमंत्री खट्टर ने करनाल सीट और दो बार के मुख्यमंत्री व कांग्रेस नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने रोहतक जिले के गढ़ी सांपला-किलोई से जीत हासिल की। खट्टर ने कांग्रेस के अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी तरलोचन सिंह पर 45,188 मतों से जीत दर्ज की।

कांग्रेस ने 31 सीटें जीतकर राज्य में दूसरी बड़ी पार्टी बनी, जबकि नवगठित जननायक जनता पार्टी (जजपा) ने 10 सीटें हासिल की। जजपा को अस्तित्व में आए एक साल भी नहीं हुआ है। यह पार्टी प्रदेश के प्रमुख क्षेत्रीय दल रहे इंडियन नेशनल लोकदल (इनलो) से अलग होकर बनाई गई है। त्रिशंकु विधानसभा को देखते हुए कांग्रेस नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने नई सरकार बनाने के लिए जजपा समेत भाजपा विरोधी अन्य दलों को कांग्रेस को समर्थन देने की अपील की है।

यह भी पढ़ें :

महाराष्ट्र और हरियाणा की जनता ने दिवाली से पहले दिया आशीर्वाद : पीएम मोदी

Elections Result 2019 : महाराष्ट्र में NDA को बहुमत, हरियाणा में खट्टर पेश करेंगे दावा

इनलो ने जहां 2014 के विधानसभा चुनाव में 19 सीटों पर जीत दर्ज की थी, वहीं अब पार्टी महज एक सीट पर सिमट गई है। प्रदेश में आठ निर्दलीय उम्मीदवार जीते हैं। भाजपा के निवर्तमान मंत्री कैप्टन अभिमन्यु, ओ.पी. धनखड़, रामबिलास शर्मा, कविता जैन, कृष्णलाल पंवार, मनीष ग्रोवर और कृष्ण कुमार बेदी सभी को करारी हार का सामना करना पड़ा।

Advertisement
Back to Top