नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश विधानसभा की 11 सीटों के साथ विभिन्न राज्यों में हुए उपचुनाव के नतीजे आज आएंगे। सुबह आठ बजे से मतगणना शुरू हो गई है। देश के 18 राज्यों की 51 विधानसभा और दो लोकसभा सीटों के लिए हुए उपचुनाव हुए थे।

उत्तर प्रदेश उपचुनाव

उत्तर प्रदेश में हुए उप-चुनाव की गुरुवार को हो रही मतगणना के शुरुआती रूझानों में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को तीन सीटों पर बढ़त मिल रही है, वहीं समाजवादी पार्टी (सपा) दो, बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और अपना दल एक-एक पर आगे चल रही है।

भाजपा लखनऊ कैंट, घोसी और बलहा सीटों पर आगे चल रही है जबकि सपा रामपुर और जैदपुर सीटों पर बढ़त बनाए हुए है। बसपा इगलास में और अपना दल प्रतापगढ़ में बढ़त पर हैं।

मालूम हो कि गत सोमवार को प्रदेश की 11 विधानसभा सीटों के उपचुनाव के लिए मतदान हुआ था इस दौरान 45.5 फीसदी वोट पड़े थे। यह 11 सीटें इन पर चुने गए विधायकों के गत लोकसभा चुनाव में सांसद निर्वाचित होने के कारण रिक्त हुई हैं।

इनमें से आठ भाजपा के तथा एक-एक बसपा, सपा और अपना दल के पास थी। घोसी विधानसभा सीट, इस पर चुने गए भाजपा विधायक फागू सिंह चौहान के बिहार का राज्यपाल चुने जाने के बाद उनके इस्तीफे के कारण रिक्त हुई है।

मतगणना कर्मी
मतगणना कर्मी

बिहार उपचुनाव

बिहार में लोकसभा की एक और 5 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव की मतगणना गुरुवार को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच जारी है। शुरुआती रूझानों में समस्तीपुर लोकसभा से लोजपा प्रत्याशी प्रिंस राज आगे चल रहे हैं।

समस्तीपुर लोकसभा और विधानसभा की पांच सीटों- किशनगंज, सिमरी बख्तियारपुर, दरौंदा, नाथनगर और बेलहर के मतदाताओं ने 21 अक्टूबर को मतदान किया था।

इस उपचुनाव को अगले वर्ष होने वाले विधनसभा चुनाव का सेमीफाइनल माना जा रहा है। इस उपचुनाव में जनता दल (युनाइटेड) के अध्यक्ष नीतीश कुमार और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के तेजस्वी यादव की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है।

इन सभी सीटों पर कुल 51 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं जिनमें छह महिला उम्मीदवार शामिल हैं। इनमें जद (यू) और राजद के चार-चार, भाकपा के तीन, कांग्रेस के दो, भाजपा एवं लोजपा के एक-एक प्रत्याशी शामिल हैं।

केरल उपचुनाव

केरल में पांच विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव की मतगणना के शुरुआती रुझानों में कांग्रेस की अगुआई वाले यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (यूडीएफ) ने चार सीटों पर बढ़त बनाई हुई है वहीं शेष एक सीट पर माक्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) आगे है।

राजधानी की वातियूर्कावू विधानसभा में माकपा के युवा उम्मीदवार और तिरुवनंतपुरम के मेयर वी.के. प्रसांत अपने करीबी प्रतिद्वंद्वी पूर्व कांग्रेस विधायक के. मोहनकुमार से 226 के मामूली अंतर से आगे चल रहे हैं।

कोन्नी विधानसभा सीट पर भी कांग्रेस उम्मीदवार पी. मोहनराज और माकपा उम्मीदवार के.यू. जेनिश के बीच कांटे का मुकाबला देखने को मिल रहा है। मोहनराज 540 वोटों से आगे चल रहे हैं।

वाम की एक मात्र अरूर सीट पर उसके माकपा उम्मीदवार मनू सी. पुलिक्कल कांग्रेस के शनिमोल उस्मान से 265 वोटों से आगे चल रहे हैं। एर्नाकुलम में कांग्रेस उम्मीदवार टी.जे. विनोद वाम समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार मनु राय से 365 वोटों से आगे चल रहे हैं।

और मंजेश्वरम में इंडियन यूनियम मुस्लिम लीग के उम्मीदवार एम.सी. कमरुद्दीन अपने करीबी प्रतिद्वंद्वी से 1,181 वोटों से आगे चल रहे हैं।

गौरतबल है कि देश के 18 राज्यों की 51 विधानसभा और दो लोकसभा सीटों के लिए हुए उपचुनाव हुए थे। इन सीटों में से करीब 30 सीट भाजपा और उसके सहयोगियों के पास है। वहीं 12 सीटें कांग्रेस और बाकी अन्य क्षेत्रीय पार्टियों के पास है। उपचुनाव पार्टियों के लिए प्रतिष्ठा की लड़ाई है क्योंकि परिणाम विधानसभा के गणित को आंशिक रूप से ही बदल पाएंगे। इसके परिणाम से पार्टियों में उत्साह बढ़ेगा।

सोमवार को आयोजित हुए उपचुनाव में 57 फीसदी मतदान हुआ था। सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश की 11 सीटों पर उपचुनाव हुआ था। वहीं इसके बाद गुजरात में छह, बिहार में पांच, असम में चार, हिमाचल प्रदेश में दो और तमिलनाडु में दो सीटों पर उपचुनाव हुए थे। जिन दो लोकसभा सीटों पर उपचुनाव हुआ था, उनमें से एक महाराष्ट्र की सतारा लोकसभा सीट और बिहार की समस्तीपुर लोकसभा सीट है।