चंडीगढ़ : हरियाणा विधानसभा के 21 अक्टूबर को होने वाले चुनाव के लिये भारतीय जनता पार्टी ने रविवार को अपना घोषणा-पत्र जारी किया और कहा कि यह एक “संकल्प पत्र” है जो समाज के सभी वर्गों का प्रतिनिधित्व करता है।

भाजपा ने अपने घोषणा पत्र को ‘संकल्प पत्र' बताते हुए वादा किया कि सत्ता में आने पर अनुसूचित जाति समुदाय से आने वाले लोगों को बिना गारंटी के तीन लाख रुपये तक का कर्ज दिया जाएगा। घोषणा पत्र में किसानों को तीन लाख रुपये तक बिना ब्याज के फसल लोन देने का भी जिक्र है।

भाजपा के कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा ने यहां मीडियाकर्मियों को संबोधित करते हुए कहा, “यह एक संकल्प पत्र है। यह गंभीर और अध्ययन के बाद तैयार किया गया दस्तावेज है। इसकी तैयारी में काफी मेहनत की गई है। यह उपयोगिता वाला एक व्यवहारिक पत्र है।” उन्होंने कहा, “यह संकल्प पत्र समाज के सभी वर्गों का प्रतिनिधित्व करता है। यह समाज में अंतिम कतार में बैठे व्यक्ति की परेशानियों को दूर करने पर केंद्रित है।”

इसे भी पढ़ें

Tick Tok Star सोनाली ने खोला BJP के टिकट पाने का राज, वीडियो देख समझ आ जाएगी सच्चाई

हरियाणा चुनाव में क्या इन 5 खामियों के बाद दोबारा वापसी करेगी बीजेपी ?

पार्टी ने राज्य में 500 करोड़ रुपये की लागत से 25 लाख युवाओं को कौशल प्रशिक्षण दिलाने का भी वादा किया है। घोषणा पत्र के मुताबिक राज्य में वृद्धावस्था पेंशन के तौर पर तीन हजार रुपये दिये जाएंगे, हरियाणा को तपेदिक मुक्त बनाया जाएगा और 2022 तक किसानों की आय दोगुनी की जाएगी।

नड्डा ने कहा कि समग्र स्वास्थ्य देखभाल पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा और 2000 स्वास्थ्य एवं आरोग्य केंद्र बनाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि पार्टी सत्ता में आई तो राज्य में 1000 खेल नर्सरियां भी बनाई जाएंगी ।