कैथल : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने अनुच्छेद 370 पर कांग्रेस के रुख और राफेल की ‘शस्त्र पूजा' की आलोचना करने पर कांग्रेस की आलोचना की। अमित शाह ने बुधवार को हरियाणा के कैथल में एक चुनावी रैली में कहा, ‘‘कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधान निरस्त करने का विरोध किया। मैं राहुल से पूछना चाहता हूं कि वह अनुच्छेद 370 के पक्ष में हैं या विरोध में।''

उन्होंने कहा कि कांग्रेस भाजपा सरकार द्वारा लिए गए हर निर्णय का विरोध करती है। उन्होंने कहा कि देश में लोगों में ऐसी भावना थी कि अनुच्छेद 370 और 35-ए के कारण जम्मू कश्मीर राज्य का भारत में पूर्ण एकीकरण नहीं हो सका था।

शाह ने कहा कि अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधान निरस्त करने का राजनीति से कोई संबंध नहीं है। ‘‘यह देश की सुरक्षा से का मामला था लेकिन कांग्रेस ने इसके खिलाफ वोट डाला।''

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा राफेल की शस्त्र पूजा पर कांग्रेस के कुछ सदस्यों की टिप्पणियों की अप्रत्यक्ष रूप से उल्लेख करते हुए शाह ने कहा, ‘‘कांग्रेस के लोगों यह चीज भी खराब लगी।''

यह भी पढ़ें :

सरकार ने दिया तोहफा, केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 5 फीसदी बढ़ा

उन्होंने विजयादशमी पर राफेल युद्धक विमानों के अधिग्रहण पर प्रधानमंत्री और रक्षा मंत्री को बधाई दी। शाह ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के बारे में कहा कि वे वही बोलते हैं जो उन्हें सोनिया गांधी बोलने को कहती हैं। सत्ताधारी दल भाजपा हरियाणा में दूसरे कार्यकाल के लिए आगामी विधान सभा चुनाव लड़ रही है।