मुंबई : एनसीपी प्रमुख शरद पवार के प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) कार्यालय जाने से पहले राजनीतिक हलचल तेज हो गई है। न सिर्फ विपक्षी पार्टी बल्कि महाराष्ट्र सरकार की सहयोगी पार्टी शिवसेना भी भाजपा पर बदले की राजनीति का आरोप लगा रही है। शिवसेना नेता संजय राउत शरद पवार के समर्थन में खड़े हो गए हैं।

शिवसेना नेता संजय राउत ने शुक्रवार को कहा कि शरद पवार के खिलाफ ईडी की कार्रवाई बदले की राजनीति है। शरद पवार राजनीति के भीष्म पितामह हैं और उनके खिलाफ ऐसी कार्रवाई गलत है। संजय राउत ने कहा कि जिस बैंक में धोखाधड़ी का मामला सामने आया है, उससे शरद पवार कभी जुड़े ही नहीं थे।

बता शरद पवार के प्रवर्तन निदेशालय कार्यालय शुक्रवार दोपहर में पहुंचने से पहले पुलिस ने वहां निषेधाज्ञा लगा दी है। वहीं राज्य में विपक्षी पार्टी का दावा है कि पुलिस उनके कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले रही है।

पुलिस ने शुक्रवार सुबह बताया कि पवार के दौरे को देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस कर्मियों को दक्षिणी मुंबई के बल्लार्ड पियरे स्थित प्रवर्तन निदेशालय के कार्यालय की ओर जाने वाली सड़कों पर तैनात किया गया है।

यह भी पढ़ें :

ED के सामने आज शरद पवार की पेशी, हंगामे के मद्देनजर धारा 144 लागू

NCP प्रमुख शरद पवार का ‘पाकिस्तान प्रेम’, कहा- मुझे वहां बहुत सम्मान मिला

महाराष्ट्र राज्य सहकारी बैंक के भ्रष्टाचार से जुड़े धनशोधन मामले में पवार का नाम भी है। पूर्व केंद्रीय मंत्री को अभी तक प्रवर्तन निदेशालय ने तलब नहीं किया है।

राकांपा के मुख्य प्रवक्ता नवाब मलिक ने ट्वीट किया, ‘‘ सम्मानीय शरद पवार दोपहर दो बजे प्रवर्तन निदेशालय के कार्यालय जाएंगे। कार्यकर्ता बड़ी संख्या में उनके समर्थन में मौजूद रहेंगे। लेकिन पुलिस ने कल रात से कार्यकर्ताओं को हिरासत में लेना शुरू कर दिया है। हम वैसे लोग हैं जो कानून व्यवस्था में विश्वास करते हैं।''