मुजफ्फरनगर : सरकारी अधिकारियों से दुर्व्यवहार के आरोप में कैराना के सपा विधायक नाहिद हसन को गिरफ्तार करने के लिये पुलिस ने उनके घर पर शनिवार को छापा मारा। हालांकि पुलिस की छापेमारी के दौरान विधायक वहां मौजूद नहीं थे। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी।

घटना नौ सितंबर की है, जिसके संबंध में हसन के खिलाफ आईपीसी की धारा 353 (लोक सेवक की ड्यूटी में बाधा डालने की मंशा से उस पर हमला या आपराधिक बल प्रयोग) समेत विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

इसे भी पढ़ें नाहिद हसन को भाजपा विधायक का जवाब, कहा- भूखे मर जाओगे तुम लोग

उपमंडलीय मजिस्ट्रेट अमित पाल शर्मा और तत्कालीन क्षेत्र अधिकारी राजेश तिवारी ने विधायक की कार को रोककर उनसे कागजात दिखाने को कहा था, जिसके बाद उन्होंने कथित रूप से अधिकारियों के साथ दुर्व्यवहार किया।

क्षेत्र अधिकारी प्रदीप सिंह ने बताया कि विधायक के खिलाफ तलाशी एवं गिरफ्तारी वारंट मिलने के बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार करने के लिये उनके घर पर छापा मारा हालांकि वह वहां मौजूद नहीं थे। इस बीच सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील कैराना शहर में एहतियातन अतिरिक्त पुलिस एवं अर्धसैनिक बलों की तैनाती के साथ सुरक्षा कड़ी कर दी गयी है।