ओवैसी बोले- बिल के माध्यम से गैर-मुस्लिमों को दे सकती है नागरिकता 

एआईएमआईएम के मुखिया और सांसद असदुद्दीन ओवैसी - Sakshi Samachar

हैदराबाद : एआईएमआईएम के मुखिया और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि उन्हें आशंका है कि नागरिक संशोधन विधेयक के माध्यम से भाजपा एक बिल (विधेयक) ला सकती है। उस बिल में सभी गैर-मुस्लिमों लोगों को नागरिकता देने की कोशिश कर सकती है।


राष्ट्रीय नागरिकता पर ओवैसी ने भाजपा पर बयान के माध्यम से बड़ा हमला किया। उन्होंने कहा कि आज असम में जो हुआ उससे भाजपा को सबक सीखना चाहिए। मुसलमानों के बारे में पूरे देश में एनआरसी की प्रक्रिया पर रोक लगानी चाहिए। उन्होंने कहा कि असम में अवैध रूप से रह रहे प्रवासियों के तथाकथित मिथक का भंडाफोड हुआ है।

इसे भी पढ़ें :

ओवैसी का मोदी सरकार पर तंज, कहा- ‘मेरा काम उन्हें आइना दिखाना’

सांसद ओवैसी ने कहा कि गैर-मुस्लिमों को नागरिकता देने की कोशिश भाजपा कर सकती है और इससे समानता के अधिकार का उल्लंघन होगा। आपको बता दें कि असम में अपडेटेड नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन्स जारी किया गया। इसमें 19 लाख से अधिक लोगों के नाम शामिल नहीं हैं। एनआरसी में शामिल होने के लिए कुल 3,30,27,661 लोगों ने आवेदन किया था। असम एक अकेला ऐसा राज्य है जहां पर 20 सदी की शुरुआत से बांग्लादेश से अवैध घुसपैठियों की समस्या से जूझ रहा है।

Advertisement
Back to Top